ISIS का दामन थामने वाली महिला की अमेरिका में दोबारा ''NO ENTRY''

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 21, 2019   11:36
ISIS का दामन थामने वाली महिला की अमेरिका में दोबारा ''NO ENTRY''

श्रीमती होदा मुथाना अमेरिकी नागरिक नहीं है और उन्हें अमेरिका में दाखिल नहीं होने दिया जाएगा। उनके पास कोई कानूनी आधार, वैध पासपोर्ट और अमेरिका की यात्रा करने के लिये वीजा नहीं है।

वाशिंगटन। अमेरिका ने सीरिया में इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होने वाली अलबामा की एक महिला को उसके बेटे के साथ वापस लौटने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। अमेरिका का कहना है कि अब वह अमेरिकी नागरिक नहीं है। महिला के वकील इस फैसले को चुनौती दे रहे हैं। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने एक संक्षिप्त बयान में इस बात का कोई विवरण नहीं दिया कि प्रशासन ने यह फैसला किस प्रकार लिया।

इसे भी पढ़ें- बांग्लादेश में रासायनिक गोदामों में लगी आग, जिंदा जलने से 69 लोगों की मौत

उन्होंने कहा, "श्रीमती होदा मुथाना अमेरिकी नागरिक नहीं है और उन्हें अमेरिका में दाखिल नहीं होने दिया जाएगा। उनके पास कोई कानूनी आधार, वैध पासपोर्ट और अमेरिका की यात्रा करने के लिये वीजा नहीं है।" हालांकि महिला के वकील हसन शिबले ने दलील दी कि मुथाना अमेरिका में पैदा हुई थीं और 2014 में इस्लामिक स्टेट में शामिल होने से पहले उनके पास वैध पासपोर्ट था।

इसे भी पढ़ें- तिब्बती विद्रोह के 60 वर्ष पूरे होने के मद्देनजर तिब्बत में विदेशियों के प्रवेश पर प्रतिबंध

वकील ने कहा कि हुदा ने आतंकवादी संगठन छोड़ दिया है और वह 18 महीने के अपने बेटे की देखभाल के लिये कानूनी दिक्कतों की परवाह किये बिना घर वापस लौटना चाहती हैं। मुथाना और उसका बेटा इस समय आईएस छोड़कर भागे दो अन्य लोगों के साथ सीरिया में एक शरणार्थी शिविर में रह रहे हैं। इससे पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को ट्वीट किया था कि वह उन्हें प्रवेश नहीं देने के फैसले का समर्थन करते हैं। उन्होंने ट्वीट किया कि "मैंने विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ को निर्देश दिया है, और वह पूरी तरह से सहमत हैं कि हुदा को दोबारा देश में प्रवेश नहीं दिया जाए।" 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।