अमेरिका ने UN से बीजिंग ओलंपिक से पहले चीन के उइगर मुसलमानों पर रिपोर्ट जारी करने का किया आग्रह

अमेरिका ने UN से बीजिंग ओलंपिक से पहले चीन के उइगर मुसलमानों पर रिपोर्ट जारी करने का किया आग्रह

चीन पर कांग्रेस की कार्यकारी समिति का नेतृत्व करने वाले शीर्ष डेमोक्रेट सीनेटर जेफ मर्कले और प्रतिनिधि जेम्स मैकगवर्न ने कहा कि 4 फरवरी से शुरू होने वाले खेलों से पहले रिपोर्ट प्रकाशित करना 'इस तथ्य की पुष्टि करेगा कि कोई भी देश जांच से परे या अंतरराष्ट्रीय कानून से ऊपर नहीं है।

अमेरिकी सांसदों ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख से शिनजियांग पर एक रिपोर्ट जारी करने का आह्वान किया है। वाशिंगटन ने बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक की शुरुआत से पहले चीन पर अल्पसंख्यक उइगर मुसलमानों के खिलाफ नरसंहार करने का आरोप लगाया। चीन पर कांग्रेस की कार्यकारी समिति का नेतृत्व करने वाले शीर्ष डेमोक्रेट सीनेटर जेफ मर्कले और प्रतिनिधि जेम्स मैकगवर्न ने कहा कि 4 फरवरी से शुरू होने वाले खेलों से पहले रिपोर्ट प्रकाशित करना "इस तथ्य की पुष्टि करेगा कि कोई भी देश जांच से परे या अंतरराष्ट्रीय कानून से ऊपर नहीं है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाचेलेट, चिली के पूर्व राष्ट्रपति, बीजिंग से वर्षों से शिनजियांग तक "सार्थक और निर्बाध पहुंच" के लिए कह रहे हैं, लेकिन अब तक ऐसी कोई यात्रा संभव नहीं हुई है।

इसे भी पढ़ें: सैटेलाइट इमेज से हुआ बड़ा खुलासा, पैंगोंग लेक पर तेजी से पुल बना रहा चीन

दिसंबर के मध्य में, उच्चायुक्त के प्रवक्ता ने संकेत दिया था कि रिपोर्ट "कुछ हफ्तों" में प्रकाशित की जा सकती है।  अमेरिका की तरफ से संयुक्त राष्ट्र से सख्त होने का आह्वान किया जा रहा है। इसके अलावा कई अधिकार संगठनों ने चीन पर शिनजियांग में कम से कम दस लाख मुसलमानों को कैद करने का आरोप लगाया है। बीजिंग इस आंकड़े से इनकार करता है और शिविरों को रोजगार का समर्थन करने और धार्मिक अतिवाद से लड़ने के लिए "व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र" के रूप में वर्णित करता है। संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और ब्रिटेन ने घोषणा की कि वे "शिनजियांग में चल रहे नरसंहार और मानवता के खिलाफ अपराधों और अन्य मानवाधिकारों के उल्लंघन के कारण ओलंपिक में आधिकारिक प्रतिनिधित्व नहीं भेजने का फैसला लिया है। 

इसे भी पढ़ें: चीन की जनसंख्या में 2021 में पांच लाख से भी कम बढ़ी, जन्म दर लगातार पांचवे साल घटी

चीन को मिला खाड़ी देशों का समर्थन

 चीन ने कहा कि फारस की खाड़ी के देशों के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत के बाद उइगर मुसलमानों के साथ व्यवहार सहित कई मुद्दों पर उसे समर्थन प्राप्त हुआ है। चीन ने कहा कि उक्त बैठक में विदेश मंत्रियों ने संबंधों को उन्नत करने पर सहमति जतायी। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि मंत्रियों और खाड़ी सहयोग परिषद के महासचिव नायेफ फलाह अल-हजरफ ने ताइवान, शिनजियांग और मानवाधिकारों से संबंधित मुद्दों पर चीन के वैध रुख के प्रति अपना दृढ़ समर्थन व्यक्त किया। वांग ने कहा कि उन्होंने ‘‘चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप और मानवाधिकारों के मुद्दों के राजनीतिकरण को खारिज किया।’’