जब पुतिन के सामने बातचीत करते वक्त सहम गए रूसी खुफिया विभाग के चीफ, जानें क्या है पूरा मामला

जब पुतिन के सामने बातचीत करते वक्त सहम गए रूसी खुफिया विभाग के चीफ, जानें क्या है पूरा मामला

वीडियो फुटेज के आधार पर कई का यह विश्लेषकों का मानना है कि ख़ुफिया चीफ सेर्गेई पुतिन को बातचीत की सलाह देना चाह रहे थे पुतिन के कड़े रुख को देखकर वो सहम गए। सेर्गेई ने आगे कहा कि वो दोनेस्तक और लुहान्स्क को मान्यता देने के निर्णय का समर्थन करेंगे।

रूस ने यूक्रेन पर हमला कर दिया है इस तरह यूरोप में युद्ध की शुरुआत हो चुकी है। आज तड़के सुबह राजधानी कीव में धमाके की दो आवाजें सुनी गईं। खबर है कि रूसी सेना करीब पहुंच गई है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन मामले को लेकर किस कदर सख्त है इसकी एक झलक सोमवार को हुई एक बैठक के दौरान मिली। इस बैठक में रूस के कई बड़े अधिकारी मौजूद थे। सुरक्षा से जुड़ी इस बैठक में दोनेस्तक और लुहान्स्क पर जब रूस के विदेशी खुफिया विभाग के चीफ सलाह देने लगे तो पुतिन ने उन्हें चुप करा दिया। पुतिन का लहजा ऐसा सख्त था कि जवाब देते वक्त खुफिया एजेंसी की इसकी जुबान लड़खड़ाने लगी। पूरी घटना टीवी पर प्रसारित हो रही थी और अब इसका वीडियो दुनिया में वायरल है।

टीवी पर जो तस्वीरें नजर आईं उसके अनुसार इस बैठक में पुतिन रूस की विदेशी खुफिया एजेंसी के चीफ सर्गेई नेरीश्किन से सीधा जवाब देने के लिए कहते दिख रहे हैं। इस वीडियो में सर्गेई यह कहते दिखते हैं हमने आज इस मुद्दे पर बातचीत की थी उसको लागू करना चाहिए। रूसी राष्ट्रपति इस पर उन्हें बीच में टोकते हुए कहते हैं इसका मतलब क्या है? सबसे खराब स्थिति में क्या? क्या आप का मतलब यह है कि हम बातचीत शुरू कर दें।इस पर सर्गेई कहते हैं, नहीं। उनके ना कहने से पहले पुतिन एक बार फिर उन्हें टोकते हैं। वह कहते हैं हम बातचीत शुरू करें या फिर उनकी संप्रभुता को मान्यता दे दें? साफ-साफ़ कहिए आप कहना क्या चाहते हैं।

 

इस सवाल पर पुतिन ने खुफिया विभाग के चीफ की की खिंचाई

वीडियो फुटेज के आधार पर कई  का यह विश्लेषकों का मानना है कि ख़ुफिया चीफ सेर्गेई पुतिन को बातचीत की सलाह देना चाह रहे थे पुतिन के कड़े रुख को देखकर वो सहम गए। सेर्गेई ने आगे कहा कि वो दोनेस्तक और लुहान्स्क को मान्यता देने के निर्णय का समर्थन करेंगे। पुतिन का लहजा अब भी सख्त था। उन्होंने पूछा करेंगे या करता हूं साफ-साफ बोलिए।

पुतिन के इस तरह सवाल पूछने से खुफिया विभाग के चीफ की जुबान लड़खड़ा गई। उन्होंने जवाब दिया मैं दोनों प्रांतों को (दोनेस्तक और लुहान्स्क) को रूसी फेडरेशन को शामिल करने के निर्णय का समर्थन करता हूं। इस पर रूसी राष्ट्रपति ने कहा मैं उस पर बात नहीं कर रहा हूं। हम यहां उस पर विचार नहीं कर रहे हैं। हम यहां इस पर बात कर रहे हैं कि उनकी स्वतंत्रता को मान्यता दें या नहीं। इस पर सेर्गेई हिचकते हुए कहते हैं हां मैं उनकी स्वतंत्रता को मान्यता देने के प्रस्ताव का समर्थन करता हूं।

आपको बताते चलें कि, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलेदिमीर ज़ेलेन्स्की ने गुरुवार को एक वीडियो संदेश जारी कर जानकारी दी कि रूसी हमले में यूक्रेन में 137 लोगों की मौत हो चुकी है और 300 से ज्यादा लोग घायल है। उन्होंने वीडियो संबोधन में कहा कि आज हमने अपने 137 हीरो, अपने नागरिकों को खो दिया है. जबकि 316 लोग घायल हुए हैं. उन्होंने इस युद्ध में किसी का साथ न मिलने की बात भी कही. उन्होंने दुनियाभर के देशों का संदर्भ देते हुए कहा कि उनके देश को रूस से लड़ने के लिए छोड़ दिया गया. उन्होंने कहा, हमारे साथ लड़ने के लिए कौन खड़ा है? मुझे कोई नहीं दिख रहा है. यूक्रेन को नाटो सदस्यता की गारंटी देने के लिए कौन तैयार है? हर कोई डरता है. उधर, अमेरिका ने रूस के खिलाफ लड़ाई में यूक्रेन को घातक हथियार तैनात करने के लिए 600 मिलियन डॉलर की मदद देने की बात कही है।