33वें ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला में भारत सम्मानित अतिथि के रूप में नामित

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 11 2019 5:10PM
33वें ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला में भारत सम्मानित अतिथि के रूप में नामित
Image Source: Google

विज्ञान पर आधारित भारतीय फीचर फिल्मों का फिल्म महोत्सवय भोजन−महोत्सवय ग्वादालाहारा के विभिन्न स्थानों तथा कासाइंडिया (भारतीय व्यंजनों, हस्तशिल्प तथा कलाकृतियों की बिक्री एवं प्रदर्शनी हेतु एक सांस्कृतिक हब) में स्ट्रीट शोज़ भी ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले (एफआईएल) में भारत की भागीदारी में शामिल होंगे।

प्रेस विज्ञप्ति। स्पेनिश भाषा जगत के सबसे बड़े पुस्तक मेले, 33वें ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले, मैक्सिको (30 नवंबर− 8 दिसंबर 2019) में भारत को सम्मानित अतिथि के रूप में नामित किया गया है।
 
पिछले दिनों मैक्सिको में भारतीय दूतावास में आयोजित हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत के अध्यक्ष, प्रो. गोविंद प्रसाद शर्मा मैक्सिको में भारत के राजदूत, श्री मुक्तेश के. परदेशी तथा संपादक एवं परियोजना प्रभारी, श्री कुमार विक्रम द्वारा ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला−2019 के लिए भारतीय कायक्रमों की व्यापक रूपरेखा की घोषणा की गई। यहाँ भारी संख्या में मीडियाकर्मी उपस्थित थे। पुस्तक मेले के आयोजकों की तरफ से महानिदेशक, एफआईएल, सुश्री मेरिसोल स्कूल्ज़ मनौत ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया।
राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत (मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन) उक्त पुस्तक मेले में अतिथि देश की प्रस्तुतीकरण के समन्वयन हेतु नोडल एजेंसी है। ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के इस संस्करण में भारत अपनी समृद्ध एवं सामासिक साहित्यिक व सांस्कृतिक विरासत की विस्तृत शृंखला का प्रदर्शन करेगा जिनमें शामिल होंगे− 35 से अधिक लेखक/कलाकार/वैज्ञानिक/विज्ञान संचारक/बाल साहित्यिकारय 15 प्रकाशन गृहय साहित्यिक एवं शैक्षणिक गतिविधियाँ जैसे सम्मेलन, प्रकाशक राउंड टेबल, विज्ञान एवं अन्य शैलियों पर आधारित चर्चाएँ एवं प्रस्तुतीकरणय प्राचीन एवं दुर्लभ पांडुलिपियों, सचित्र पुस्तकों तथा हस्तशिल्प व चित्रकला पर आधारित वॉल हैंगिंग की 3 विशाल प्रदर्शिनयाँय भारत की 40 प्रसिद्ध महिला कलाकारों द्वारा आधुनिक कला प्रस्तुतिय वृहत सांस्कृतिक कायक्रमों से मिलकर बना 'भारतीय महोत्सव' जिसमें शामिल होंगे 10 कन्सर्ट− लोक, शास्त्रीय तथा समकालीनय तथा भारतीय साहित्य पर आधारित एक कलात्मक प्रस्तुति सहित अन्य अनेक गतिविधियाँ। इस विशाल पुस्तक समारोह में 2000 से अधिक भारतीय पुस्तकों की अपेक्षित बिक्री एवं प्रदर्शनी का अनुमान है जिनमें अनुवाद, अनुबंध तथा प्रतिलिप्यधिकार (कॉपीराइट) विनिमय भी शामिल हैं। 
 
विज्ञान पर आधारित भारतीय फीचर फिल्मों का फिल्म महोत्सवय भोजन−महोत्सवय ग्वादालाहारा के विभिन्न स्थानों तथा कासाइंडिया (भारतीय व्यंजनों, हस्तशिल्प तथा कलाकृतियों की बिक्री एवं प्रदर्शनी हेतु एक सांस्कृतिक हब) में स्ट्रीट शोज़ भी ग्वादालाहारा अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले (एफआईएल) में भारत की भागीदारी में शामिल होंगे।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.