हरियाणा में कोरोना वायरस संक्रमण के 120 नए मामले, पांच मरीजों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   20:26
  • Like
हरियाणा में कोरोना वायरस संक्रमण के 120 नए मामले, पांच मरीजों की मौत

पांच और मरीजों की मौत के बाद अब तक राज्य में 3,005 लोग इस घातक वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में यह जानकारी दी गई।

चंडीगढ़। हरियाणा में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 120 नए मामले सामने आए, जिसके साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों का आंकड़ा बढ़कर 2,66,939 तक पहुंच गया। वहीं, पांच और मरीजों की मौत के बाद अब तक राज्य में 3,005 लोग इस घातक वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। 

इसे भी पढ़ें: Unlock-5 का 114वां दिन: देश में 10 लाख से अधिक लोगों को लगाए गए कोविड-19 के टीके

इसके मुताबिक, पानीपत, यमुनानगर और झज्जर जिलों में एक-एक मरीज की मौत हुई जबकि कैथल में दो मरीजों की जान गई। सामने आए नए मामलों में गुरुग्राम में 24, पंचकुला में 15 और फरीदाबाद में 25 मामले दर्ज किए गए जबकि बाकी मामले अन्य जिलों से हैं। बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में 1,585 मरीज उपचाराधीन हैं और अब तक 2,62,349 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


DMK को सत्ता में आने से रोकने के लिए दिनाकरण ने बनाया प्लान ! बोले- विरोध करने वाले दलों का स्वागत है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 2, 2021   19:45
  • Like
DMK को सत्ता में आने से रोकने के लिए दिनाकरण ने बनाया प्लान ! बोले- विरोध करने वाले दलों का स्वागत है

एएमएमके नेता टीटीवी दिनाकरन ने कहा कि चुनाव नजदीक हैं। हमारा एकमात्र उद्देश्य द्रमुक को सत्ता में आने से रोकना है। मैं इसके लिए प्रयास कर रहा हूं।

चेन्नई। अम्मा मक्कल मुनेत्र कजगम (एएमएमके) के नेता टीटीवी दिनाकरन ने मंगलवार को इसे अफवाह करार दिया कि उनकी पार्टी सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक के साथ गठबंधन करने से संबंधित मुद्दों पर बातचीत कर रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी पार्टी, जो द्रमुक के खिलाफ है और उनकी पार्टी के नेतृत्व को स्वीकार करने के लिए तैयार है, वे उनके नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल हो सकते हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या वह भाजपा और अन्नाद्रमुक के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार हैं, तो उन्होंने कहा कि एएमएमके का एकमात्र उद्देश्य द्रमुक को सत्ता से दूर रखना है और इस मकसद के लिए समान विचारधारा वाली पार्टियां उनके गठबंधन में शामिल हो सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें: डांस के सहारे असम में कांग्रेस को मिलेगा चांस? पुश-अप्स से तमिलनाडु में पार्टी को आगे बढ़ा पाएंगे राहुल! 

उन्होंने अन्नाद्रमुक और भाजपा का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें पता है कि वे गठबंधन के लिए नहीं आएंगे। तमिलनाडु में छह अप्रैल को एक चरण में विधानसभा चुनाव होने हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि चुनाव नजदीक हैं। हमारा एकमात्र उद्देश्य द्रमुक को सत्ता में आने से रोकना है। मैं इसके लिए प्रयास कर रहा हूं। ऐसा नहीं है कि यह पार्टी आनी चाहिए या नहीं... हम द्रमुक का विरोध करने वाले और हमारे नेतृत्व को स्वीकार करने तथा चुनाव में उतरने वाले दलों को (एएमएमके के नेतृत्व वाले गठबंधन में) शामिल करने के लिए तैयार हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या इसका मतलब है कि वह द्रमुक को हराने के लिए भाजपा और अन्नाद्रमुक के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार हैं, तो निर्दलीय विधायक ने कहा कि ऐसा नहीं है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


ममता के मंत्री जाकिर हुसैन पर बम हमले की NIA जांच होगी

  •  अभिनय आकाश
  •  मार्च 2, 2021   19:41
  • Like
ममता के मंत्री जाकिर हुसैन पर बम हमले की NIA जांच होगी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले के लिए एसआईटी जांच का आदेश दिया था। साथ ही जाकिर हुसैन पर हुए बम हमले के लिए केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा था।

पश्चिम बंगाल के श्रम राज्य मंत्री जाकिर हुसैन पर हुए हमले की जांच नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) करेगी। मर्शीदाबाद में रेलवे स्टेशन जाते वक्त 17 फरवरी को जाकिर हुसैन पर बम से हमला किया गया था। वो गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। ईलाज के लिए उन्हें कोलकाता में भर्ती कराया गया था। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले के लिए एसआईटी जांच का आदेश दिया था। साथ ही जाकिर हुसैन पर हुए बम हमले के लिए केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा था। 

इसे भी पढ़ें: बंगाल में फ्रंट फुट पर खेलने को बीजेपी तैयार, PM मोदी 20 और अमित शाह करेंगे 50 रैलियां!

मुर्शिदाबाद के निमिता रेलवे स्टेशन पर यह हमला हुआ था। पश्चिम बंगाल के श्रम राज्यमंत्री प्लेटफार्म नंबर 2 पर कोलकाता के लिए ट्रेन पकड़ने जा रहे थे। इस बम हादसे का वीडियो भी सामने आया था। इस मामले में राजकीय रेलवे पुलिस ने हत्या के प्रयास. आपराधिक पडयंत्र और विस्फोटक अधिनियम समेत कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: बंगाल में फ्रंट फुट पर खेलने को बीजेपी तैयार, PM मोदी 20 और अमित शाह करेंगे 50 रैलियां!

मामले की जांच एनआईए को सौंपी गई है जिसके बाद आला अधिकारी इस मामले में अब तक की जांच के दौरान जो भी तथ्य सामने आए हैं उन सभी को ध्यान में रखकर आगे की जांच और पूछताछ की जाएगी। सूत्रों के अनुसार इस मामले में जानने की कोशिश की जा रही है कि क्रूड बम कहां तैयार किया गया था और इसके पीछे कौन लोग जिम्मेदार है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, बोले- यह पूरी तरह सुरक्षित और सरल है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 2, 2021   19:29
  • Like
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, बोले- यह पूरी तरह सुरक्षित और सरल है

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कम समय में टीका बनाने के लिए मैं भारत के वैज्ञानिकों और डॉक्टरों को सलाम करता हूं। मैं आर आर अस्पताल के डॉक्टरों और पैरामेडिक कर्मचारियों को भी धन्यवाद देता हूं।

नयी दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने यहां स्थित ‘आर्मी रिसर्च एंड रेफरल’ अस्पताल में मंगलवार को कोरोना वायरस टीके की पहली खुराक लगवाई। इससे एक दिन पहले ही टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण की शुरुआत हुई थी। सिंह ने कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। मंत्री ने ट्वीट किया, “आज आर आर अस्पताल में मुझे कोविड-19 के टीके की पहली खुराक दी गई। देश को कोविड मुक्त बनाने का भारत का संकल्प इस टीकाकरण अभियान से मजबूत हुआ है। टीका पूरी तरह सुरक्षित है और सरल है।” 

इसे भी पढ़ें: कोरोना की वैक्सीन लेने में न करें कोई जल्दबाजी! इन 8 बातों को ध्यान में रखें 

उन्होंने कहा कि कम समय में टीका बनाने के लिए मैं भारत के वैज्ञानिकों और डॉक्टरों को सलाम करता हूं। मैं आर आर अस्पताल के डॉक्टरों और पैरामेडिक कर्मचारियों को भी धन्यवाद देता हूं। मैं सभी पात्र लोगों से आग्रह करता हूं कि वे टीका लगवाएं और भारत को कोविड मुक्त करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept