Unlock-5 का 114वां दिन: देश में 10 लाख से अधिक लोगों को लगाए गए कोविड-19 के टीके

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   20:19
Unlock-5 का 114वां दिन: देश में 10 लाख से अधिक लोगों को लगाए गए कोविड-19 के टीके

संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे।

नयी दिल्ली। देश भर में कोविड​​-19 टीकाकरण अभियान के तहत अब तक लगभग 10.5 लाख लोगों को कोरोना वायरस-रोधी ठीके लगाए जा चुके हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि 24 घंटे की अवधि में देश में आयोजित 4,049 सत्रों में 2,37,050 लोगों को टीके लगाये गये। अब तक कुल 18,167 सत्र आयोजित किए जा चुके हैं। संक्रमण की जांच के मोर्चे पर भी भारत लगातार आगे बढ़ रहा है। मंत्रालय ने कहा कि जांच संबंधी बुनियादी ढांचे के विस्तार ने वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई को और मजबूत किया है। देश भर में अब तक कुल जांच की संख्या 19 करोड़ से अधिक हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के कुल 8,00,242 नमूनों की जांच की गई, जिससे भारत में अब तक हुई कुल जांच की संख्या बढ़कर 19,01,48,024 हो गई है। मंत्रालय ने कहा, निरंतर आधार पर विस्तृत और व्यापक जांच के परिणामस्वरूप संक्रमण दर में कमी आई है। कुल संक्रमण दर वर्तमान में 5.59 प्रतिशत है।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में कोरोना संक्रमण के 201 नये मामले, किसी की मौत नहीं

पिछले कुछ हफ्तों से देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी लगातार कम हो रही है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर अब कुल मामलों का 1.78 प्रतिशत रह गयी है। भारत में वर्तमान में 1,88,688 मरीजों का इलाज चल रहा है। 24 घंटे के अंतराल में कुल 18,002 लोग ठीक हुए। इससे कुल इलाजरत मरीजों की संख्या में एक दिन में 3,620की कमी आई है। देश में ठीक हुए कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 1,02,83,708 तक पहुंच गई है। मंत्रालय ने कहा कि ठीक होने वाले नए लोगों में से 84.70 प्रतिशत लोग दस राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के है। केरल में 6,229 लोग बीमारी से ठीक हुए। महाराष्ट्र और कर्नाटक ने क्रमशः 3,980 और 815 नए मरीज ठीक हुए। 24 घंटे के अंतराल में संक्रमण के कुल 14,545 नए मामले सामने आए हैं। नए मामलों में 84.14 प्रतिशत मामले आठ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में आए हैं। केरल में 24 घंटे के अंतराल में 6,334 नए मामले सामने आए। महाराष्ट्र में 2,886 नए मामले सामने आए, जबकि कर्नाटक में 674 नए मामले सामने आए। पिछले 24 घंटों में हुईं 163 मौतों में से 82 प्रतिशत मौतें नौ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में हुई हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 52 मौतें हुई हैं। केरल में 21 मौतें हुई हैं।

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 266 नये मामले सामने आये

दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 266 नये मामले सामने आये और इस महामारी के कारण सात और मरीजों की मौत हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामलों की संख्या 6,33,542 से अधिक हो गई है और मृतकों की संख्या 10,789 पर पहुंच गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक बुलेटिन के अनुसार शहर में इस समय 2,060 मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि संक्रमण की दर बढ़कर 0.37 प्रतिशत हो गई। बृहस्पतिवार को संक्रमण की दर 0.28 प्रतिशत थी।

इसे भी पढ़ें: अनुबंध के तहत विभिन्न देशों को कोरोना वायरस टीकों की आपूर्ति कर रहा भारत: विदेश मंत्रालय

कोविड-19 के कारण यूपीएससी परीक्षा से वंचित छात्रों को एक और मौका देने के पक्ष में नहीं केंद्र

केंद्र ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय को बताया कि वह पिछले साल महामारी के कारण यूपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा में शामिल नहीं होने से अपना आखिरी मौका गंवा देने वाले अभ्यर्थियों को एक और अवसर देने के पक्ष में नहीं है। न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर के नेतृत्व वाली पीठ ने कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की तरफ से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एस वी राजू के निवेदन का संज्ञान लिया। अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ने पीठ से कहा, ‘‘हम एक और अवसर देने को तैयार नहीं है। मुझे हलफनामा दाखिल करने का समय दीजिए...कल (बृहस्पतिवार) रात मुझे निर्देश मिला है कि हम इस पर तैयार नहीं हैं।’’ पीठ में न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी भी थे। पीठ ने सिविल सेवा की अभ्यर्थी रचना सिंह की याचिका को 25 जनवरी के लिए सूचीबद्ध किया है और केंद्र से एक हलफनामा दाखिल करने को कहा है। इससे पहले, सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ को बताया था कि सिविल सर्विसेज के ऐसे अभ्यर्थियों को सरकार एक और मौका देने पर विचार कर रही है। शीर्ष अदालत ने पिछले साल 30 सितंबर को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की प्रारंभिक परीक्षा को स्थगित करने से इनकार कर दिया था। देश में कोविड-19 महामारी और कई हिस्सों में बाढ़ के कारण परीक्षा को टालने का अनुरोध किया गया था।

देश में कोविड-19 के 14,545 नए मामले, 163 और लोगों की मौत

भारत में कोविड-19 के 14,545 नए मामले सामने आने के बाद शुक्रवार को देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,06,25,428 हो गई, जिनमें से 1,02,83,708 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, वायरस से 163 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,53,032 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, कुल 1,02,83,708 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 96.78 प्रतिशत हो गई है। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.44 प्रतिशत है। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगातार तीन दिन से दो लाख से कम बनी हुई है। अभी 1,88,688 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.78 प्रतिशत है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 266 नये मामले सामने आये

कोविड-19 टीका लगने के बाद गुरुग्राम में स्वास्थ्यकर्मी की मौत, अधिकारियों ने कहा टीके से कोई लेना-देना नहीं

हरियाणा के गुरुग्राम में हाल ही में कोविड-19 का टीका लगवाने वाली एक महिला स्वास्थ्यकर्मी की शुक्रवार को मृत्यु हो गई। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि अभी तक टीके से इसका संबंध होने की पुष्टि नहीं हुई है। 55 वर्षीय महिला स्वास्थ्यकर्मी की मौत गुरुग्राम स्थित उसके आवास पर हुई। गुरुग्राम के मुख्य चिकित्सा अधिकारी विरेन्द्र यादव ने फोन पर बताया, ‘‘उन्हें 16 जनवरी को टीका लगा था। उनके परिवार ने आज अचानक उनकी मृत्यु होने की सूचना दी, लेकिन अभी तक ऐसा कोई तथ्य नहीं है जो मौत और टीके के बीच संबंध साबित कर सके।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने उनका विसरा जांच के लिए भेजा है और रिपोर्ट आने पर ही जानकारी मिलेगी।’’ हरियाणा में कोविड-19 टीकाकरण शनिवार को शुरू हुआ और कोरोना योद्धाओं को टीका लगाया जा रहा है।

उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के 110 नए मामले

उत्तराखंड में शुक्रवार को 110 नए मरीजों में कोविड -19 की पुष्टि हुई जबकि तीन अन्य संक्रमितों ने महामारी से दम तोड दिया। एक बुलेटिन में इसकी जानकारी दी गयी है। इस बीच, प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण अभियान में शुक्रवार को 35 जगहों पर 2308 लाभार्थियों को टीका लगाया गया। सोलह जनवरी को शुरू हुए अभियान में अब तक 10514 लोगों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, 110 नए मरीजों के मिलने के साथ ही प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढकर 95464 हो गयी है। ताजा मामलों में सर्वाधिक 54 देहरादून जिले में सामने आए जबकि नैनीताल में 29, और हरिद्वार में 13 मरीज मिले। शुक्रवार को प्रदेश में तीन और कोविड मरीजों ने दम तोड दिया। महामारी से अब तक प्रदेश में 1629 मरीज जान गंवा चुके हैं। प्रदेश में शुक्रवार को 183 और मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो गए। अब तक कुल 90730 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं और उपचाराधीन मामलों की संख्या 1795 है। प्रदेश में कोविड 19 के 1310 मरीज प्रदेश से बाहर चले गए हैं।

इसे भी पढ़ें: भारत के कोरोना गिफ्ट पर शेख हसीना ने पीएम मोदी को कहा धन्यावाद

आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के 137 नये मामले सामने आये

आंध्र प्रदेश में शुक्रवार को सुबह नौ बजे समाप्त हुए 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 137 नये मामले सामने आये। इन्हें मिला कर राज्य में कोरोना वायरस के उपचाराधीन मामलों की संख्या 1,488 है। एक नवीनतम बुलेटिन में कहा गया है कि 167 मरीज ठीक हुए और इस अवधि के दौरान चार और मरीजों की मौत हो गई। इसमें कहा गया है कि संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 8,86,694, ठीक हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 8,78,060 और मृतक संख्या बढ़कर 7,146 हो गई है।

जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस संक्रमण के 88 नए मामले, चार मरीजों की मौत

जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 88 नए मामले सामने आने के बाद प्रदेश में अब तक संक्रमण के कुल 1,23,852 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, इसी अवधि में चार और मरीजों की मौत के साथ ही अब तक 1,928 लोग इस घातक वायरस के चलते जान गंवा चुके हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नए मामलों में से 42 जम्मू संभाग में जबकि 46 कश्मीर संभाग में दर्ज किए गए। अधिकारियों ने कहा कि शोपियां, कठुआ, सांबा, किश्तवाड, रियासी और रामबन जिलों में संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया जबकि 12 अन्य जिलों में एकल संख्या में नए मामले दर्ज किए गए। उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में 1,098 मरीज उपचाराधीन हैं और अब तक 1,20,826 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं। अधिकारियों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों के दौरान जम्मू एवं कश्मीर दोनों ही क्षेत्रों में दो-दो कोविड-19 मरीजों की मौत हो गई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।