छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के 2,061 नए मामले, अब तक 2,746 मरीजों ने तोड़ा दम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2020   09:23
छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के 2,061 नए मामले, अब तक 2,746 मरीजों ने तोड़ा दम

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में अब तक 2,25,497 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। 2,00,825 मरीज इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हुए हैं और इस समय राज्य में 21,926 मरीज उपचाराधीन हैं।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान 2,061 नए लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। राज्य में इस वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या 2,25,497 हो गई है। राज्य में सोमवार को 105 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई है, वहीं 1,182 लोगों ने गृह पृथक-वास पूर्ण किया है। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित 10 लोगों की मौत हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना महामारी के चलते जनवरी के बजाय फरवरी में कराई जा सकती है JEE-Main परीक्षा 

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि सोमवार को संक्रमण के 2,061 मामले आए हैं। इनमें रायपुर जिले से 248, दुर्ग से 119, राजनांदगांव से 129, बालोद से 121, बेमेतरा से 50, कबीरधाम से 42, धमतरी से 79, बलौदाबाजार से 67, महासमुंद से 87, गरियाबंद से 47, बिलासपुर से 128, रायगढ़ से 168, कोरबा से 196, जांजगीर-चांपा से 157, मुंगेली से 26, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही से आठ, सरगुजा से 97, कोरिया से 79, सूरजपुर से 22, बलरामपुर से 15, जशपुर से 48, बस्तर से 18, कोंडागांव से 17, दंतेवाड़ा से 15, सुकमा से तीन, कांकेर से 57, नारायणपुर से तीन, बीजापुर से नौ तथा अन्य राज्य से छह मरीज शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 4,454 नए मामले, 121 और मरीजों ने गंवाई अपनी जान 

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में अब तक 2,25,497 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। 2,00,825 मरीज इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हुए हैं और इस समय राज्य में 21,926 मरीज उपचाराधीन हैं। राज्य में वायरस से संक्रमित 2,746 लोगों की मौत हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।