जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के तीन साल पूरे, BJP ने मनाया उत्सव तो PDP ने निकाला विरोध मार्च

Article 370 BJP Mehbooba
Prabhasakshi
अनुच्छेद 370 हटाये जाने के तीन बरस पूरे होने पर हो रही राजनीति की बात करें तो पीडीपी कार्यकर्ताओं ने श्रीनगर के प्रेस इंक्लेव में प्रदर्शन किया तो वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं ने सम्मेलनों का आयोजन कर जम्मू-कश्मीर की बदली सूरत और यहां के लोगों को हो रहे लाभों की चर्चा की।

श्रीनगर। पाँच अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का जो साहसिक निर्णय लिया गया था उसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं। केंद्रीय योजनाओं का लाभ समूचे जम्मू-कश्मीर के लोगों को तो मिल ही रहा है साथ ही हालात में सुधार से पर्यटकों की आवक भी बढ़ी है जिससे इस केंद्र शासित प्रदेश की अर्थव्यवस्था में जोरदार सुधार आया है। अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर से आतंकवाद का सफाया भी तेजी से हुआ है। बेहतर अवसर मिलने से युवा भी मुख्यधारा के क्षेत्रों में अपना कॅरियर बना रहे हैं। इसके अलावा विकास परियोजनाएं भी लोगों के जीवन में बड़ा परिवर्तन लाई हैं। चाहे अमरनाथ यात्रा हो या माता खीर भवानी के दरबार में लगने वाला मेला हो, देशभर से जिस बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां आये उससे पिछले सभी रिकॉर्ड टूट गये हैं। आज सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री मोदी का वह वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने संसद में बताया था कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद क्या-क्या बड़े प्रशासनिक बदलाव आये। 

अनुच्छेद 370 हटाये जाने के तीन बरस पूरे होने पर जम्मू-कश्मीर में हो रही राजनीति की बात करें तो पीडीपी कार्यकर्ताओं ने श्रीनगर के प्रेस इंक्लेव में प्रदर्शन किया तो वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं ने सम्मेलनों का आयोजन कर जम्मू-कश्मीर की बदली सूरत और यहां के लोगों को हो रहे लाभों की चर्चा की। जम्मू-कश्मीर भाजपा अध्यक्ष रविंद्र रैना ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि धारा 370 जम्मू-कश्मीर के किसी भी व्यक्ति के हित में नहीं थी।

इसे भी पढ़ें: बिचौलियों के जरिये नौकरी देने के विरोध में कश्मीर की सड़कों पर उतरे वोकेशनल ट्रेनर्स/टीचर्स

वहीं पीडीपी कार्यकर्ताओं ने श्रीनगर में विरोध प्रदर्शन कर 370 को बहाल करने की मांग की। पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी प्रदर्शन में भाग लिया और नारेबाजी की कि काले दिन का काला कानून वापस लो। वहीं कश्मीर पुलिस के एडीजीपी विजय कुमार ने कहा है कि पिछले 3 साल में पुलिस या सुरक्षा बल की फायरिंग में किसी भी नागरिक की मृत्यु नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ स्थल पर पथराव की घटनाएं भी बंद हो गई हैं। विजय कुमार ने कहा कि इससे अच्छा माहौल बन रहा है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़