पंजाब में को​रोना वायरस संक्रमण के 33 नये मामले, कुल मरीज 2139 हुए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 27, 2020   22:28
पंजाब में को​रोना वायरस संक्रमण के 33 नये मामले, कुल मरीज 2139 हुए

पंजाब सरकार की ओर से जारी स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा गया है कि कोविड—19 के नये मामलों में अमृतसर में 16, पटियाला में सात, पठानकोट में तीन, तरन तारन एवं संगरूर में दो दो जबकि गुरदासपुर, बरनाला और लुधियाना जिलों में एक एक मामले सामने आये हैं।

चंडीगढ़। पंजाब में बुधवार को 33 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुयी है और इसके साथ ही राज्य में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़ कर 2,139 हो गयी है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। पंजाब सरकार की ओर से जारी स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा गया है कि कोविड—19 के नये मामलों में अमृतसर में 16, पटियाला में सात, पठानकोट में तीन, तरन तारन एवं संगरूर में दो दो जबकि गुरदासपुर, बरनाला और लुधियाना जिलों में एक एक मामले सामने आये हैं। इसमें कहा गया है कि नये मामलों में से एक विदेश से आया है जबकि सात लोग महाराष्ट्र की यात्रा कर चुके हैं।

बुलेटिन के अनुसार, बुधवार को अस्पताल से किसी मरीज को छुट्टी नहीं दी गयी है। राज्य में इलाज के बाद ठीक होने वाले लोगों की संख्या 1,918 है। बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में कुल 181 मरीज ऐसे हैं जिनका अस्पतालों मेंइलाज चल रहा है। इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के लिहाज से पंजाब में अमृतसर शीर्ष स्थान पर है जहां वायरस के 347 मामले सामने आये हैं। इसके बाद जालंधर, लुधियाना, तरन तारन, गुरदासपुर, होशियारपुर पटियाला का नंबर आता है जहां क्रमश: 230, 176, 156, 133, 110 एवं 115 मामले हैं। अन्य जिलों में भी मामले हैं। 

बुलेटिन के अनुसार, कुल मामलों में से प्रदेश में अब तक 40 मरीजों की मौत हो चुकी है और एक संक्रमित मामले में हालत नाजुक है और मरीज को वेंटिलेटर पर रखा गया है। बुलेटिन के अनुसार, अब तक 72 हजार 468 नमूनों की जांच की जा चुकी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।