पुलिस थाने में छिपाई शराब की बोतलें, चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज

4 cops booked for hiding liquor bottles in police station
गुजरात में पुलिस थाने में शराब की बोतलें छिपाने के लिए चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।उन्होंने कहा कि दोनों ने शराब की 120 बोतलें उस ट्रक से निकाली थीं जिसे शराब का परिवहन करने के लिए जब्त किया गया था।

मोडासा। गुजरात के अरवल्ली जिले के मोडासा में स्थानीय अपराध शाखा के एक पुलिस निरीक्षक और तीन कांस्टेबल के खिलाफ एक पुलिस थाने के अंदर शराब की 70 से अधिक बोतलें कथित तौर पर छिपाने के लिए शनिवार को एक प्राथमिकी दर्ज की गई। एक अधिकारी ने यह जानकारी ने दी। पुलिस अधीक्षक (एसपी) संजय खरात ने बताया कि यह अपराध शुक्रवार को उस समय प्रकाश में आया जब वह वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें दो आरोपी कांस्टेबल शराब की और 120 बोतलें ले जा रहे थे। उन्होंने बताया कि दो कांस्टेबल इमरान शेख और प्रमोद पंड्या को बाद में शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि दोनों ने शराब की 120 बोतलें उस ट्रक से निकाली थीं जिसे शराब का परिवहन करने के लिए जब्त किया गया था।

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी 23 फरवरी को मथुरा जिले में किसान जनसभा को संबोधित करेंगी

उन्होंने कहा, ‘‘आगे की जांच में पता चला कि स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस थाने के अंदर भारत निर्मित विदेशी शराब की 70 बोतलें छिपाई गई हैं।’’ खरात ने कहा कि शराब की ये बोतलें हाल ही में पुलिस द्वारा जब्त किए गए ट्रक से निकाली गई थीं। गुजरात में एक सख्त निषिद्ध कानून है जो राज्य की सीमा के भीतर शराब के निर्माण, बिक्री, खपत और परिवहन पर प्रतिबंध लगाता है। एसपी ने कहा, ‘‘70 से अधिक शराब की बोतलें एलसीबी कार्यालय में छिपाने के मामले के बाद हमने चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है, जिसमें एलसीबी पुलिस इंस्पेक्टर आर के परमार भी शामिल हैं।’’ उन्होंने कहा कि आगे की जांच जारी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़