ओडिशा लौटने को इच्छुक हैं करीब पांच लाख लोग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2020   11:06
ओडिशा लौटने को इच्छुक हैं करीब पांच लाख लोग

ओडिशा के कोविड-19 विषयक प्रवक्ता सुब्रतो बागची ने कहा, ‘‘ 48 घंटे के अंदर 4.86 लाख लोगों ने इस पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सभी 6,798 ग्राम पंचायतों में नोडल अधिकारी नियुक्त किये हैं और बीडीओ को फंसे हुए लोगों के पंजीकरण की प्रक्रिया आसान बनाने का प्रशिक्षण दिया गया है।

भुवनेश्वर। लॉकडाउन के चलते देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे ओडिशा के 4.86 लोगों ने राज्य सरकार के सामने अपने नाम दर्ज कराये हैं। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। ओडिशा सरकार ने राज्य लौटने को इच्छुक सभी लोगों के लिए पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है और उसने इसके लिए एक पोर्टल प्रारंभ किया है। ओडिशा के कोविड-19 विषयक प्रवक्ता सुब्रतो बागची ने कहा, ‘‘ 48 घंटे के अंदर 4.86 लाख लोगों ने इस पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना वायरस से अब तक 934 लोगों की मौत, 29,435 व्यक्ति संक्रमित

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सभी 6,798 ग्राम पंचायतों में नोडल अधिकारी नियुक्त किये हैं और बीडीओ को फंसे हुए लोगों के पंजीकरण की प्रक्रिया आसान बनाने का प्रशिक्षण दिया गया है। फंसे हुए लोगों में श्रमिक, विद्यार्थी, मरीज एवं तीर्थयात्री हैं। पंचायती राज सचिव डी के सिंह ने बताया कि जो लोग ओडिशा लौटे हैं उन्हें पंचायत स्तर पर 14 दिनों के पृथक-वास में रहना होगा। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंस के दौरान मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने विभिन्न राज्यों में फंसे लोगों के निर्बाध रूप से आने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया का सुझाव दिया। ओडिशा के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एन के दास ने कहा कि उन्हें आश है कि केंद्र दिशानिर्देश जारी करेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।