कृषि मंत्री ने किसान संगठनों से बातचीत फिर शुरू करने की अपील की, टिकैत बोले- शर्तें लगाकर नहीं होगी बात

कृषि मंत्री ने किसान संगठनों से बातचीत फिर शुरू करने की अपील की, टिकैत बोले- शर्तें लगाकर नहीं होगी बात

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसान संघ को मैंने एक बार नहीं कई बार कहा है कि तीन कानूनों को रद्द करने के अतिरिक्त वो कोई भी प्रस्ताव लेकर हमारे पास आए हम उस प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं। राकेश टिकैत ने कहा कि शर्त के साथ किसानों के साथ बात ना करे।

तीन कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच खींचतान लगातार जारी है। किसान संगठन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग के साथ 8 महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच 11 दौर की बैठक हो चुकी है और सारी की सारी बैठक बेनतीजा रही। अब कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि कानूनों को लेकर एक बार फिर नया बयान दिया है। नई नवेली मोदी कैबिनेट की पहली बैठक वाले दिन कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसान संघ को मैंने एक बार नहीं कई बार कहा है कि तीन कानूनों को रद्द करने के अतिरिक्त वो कोई भी प्रस्ताव लेकर हमारे पास आए हम उस प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं। इसके साथ ही कृषि मंत्री ने ये साफ किया कि एपीएमसी समाप्त नहीं होगी बल्कि और मजबूत हो इसके लिए मोदी सरकार प्रतिबद्ध है।

इसे भी पढ़ें: किसानों ने ईंधन की कीमतों में वृद्धि का किया विरोध, दामों को आधा करने की मांग की

जिसके जवाब में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि कृषि मंत्री फिर से शर्त के साथ कह रहे हैं कि किसान आए, बातचीत करें। क़ानून ख़त्म नहीं होंगे उनमें बदलाव होगा। सरकार को बात करनी है तो बात करे लेकिन शर्त के साथ किसानों के साथ बात ना करे। जो वे कहेंगे किसान उसपर चले ऐसा नहीं है।  किसान 8 महीने से यह आंदोलन सरकार का आदेश पालन करने के लिए नहीं कर रहे हैं। टिकैत ने कहा कि अगर वो बातचीत करना चाहते हैं तो कर सकते हैं। लेकिन उन्हें कोई शर्त लागू नहीं करना चाहिए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...