बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति राजनीतिक दलों के साथ करेंगे बैठक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 28, 2020   19:55
बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति राजनीतिक दलों के साथ करेंगे बैठक

संसद के बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने 30 जनवरी को विभिन्न राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है जबकि राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने 31 जनवरी को अपने आवास पर राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है। सरकार ने भी 30 जनवरी को सुबह सभी राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है।

नयी दिल्ली। संसद के बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने 30 जनवरी को विभिन्न राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है जबकि राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने 31 जनवरी को अपने आवास पर राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है। सरकार ने भी 30 जनवरी को सुबह सभी राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है। सूत्रों ने बताया कि इन बैठकों का उद्देश्य संसद के आगामी सत्र के दौरान सदन में कामकाज सुचारू रूप से संपन्न कराना है।

इसे भी पढ़ें: नागरिकता कानून को लेकर लोकसभा स्पीकर ने EU को लिखा पत्र, पुनर्विचार की अपील

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने उच्च सदन में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को बैठक के लिये आमंत्रित किया है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी ऐसी ही बैठक बुलाई है। गौरतलब है कि पिछले दो सत्रों के दौरान राज्यसभा में कामकाज की उत्पादकता शत प्रतिशत रही। हालांकि, संसद का बजट सत्र इस बार हंगामेदार रहने की संभावना है जहां विपक्ष संशोधित नागरिकता कानून के अलावा एनपीआर और एनआरसी के मुद्दे को जोरदार ढंग से उठा सकता है। इसके अलावा अर्थव्यवस्था सहित कई अन्य मुद्दे भी उठाये जा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: सुमित्रा महाजन बोलीं, धरना-प्रदर्शनों के जरिये CAA को नहीं कराया जा सकता निरस्त

उल्लेखनीय है कि संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होगा और उस दिन संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संबोधित करेंगे। सत्र 11 फरवरी तक चलेगा। इसके बाद एक अंतराल के बाद इसका दूसरा हिस्सा 2 मार्च से शुरू होकर 3 अप्रैल तक चलेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।