स्पीकर के चुनाव के बहाने अखिलेश का तंज, राइट से आए हैं, गेम का हिस्सा मत बनिएगा

स्पीकर के चुनाव के बहाने अखिलेश का तंज, राइट से आए हैं, गेम का हिस्सा मत बनिएगा

नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने सर्वसम्मति से अध्यक्ष का चुनाव करके सदन में एक स्वस्थ परंपरा की शुरुआत की सराहना की। उन्होंने महाना से एक अध्यक्ष के रूप में तटस्थता से कार्य करने और विपक्ष के अधिकारों की रक्षा करने का आग्रह किया।

उत्तर प्रदेश की 18वीं विधानसभा के लिए अध्यक्ष चुन लिया गया। बीजेपी के आठ बार के विधायक सतीश महाना को निर्विरोध चुना गया। कार्यवाहक अध्यक्ष रमापति शास्त्री ने सतीश महाना के चुने जाने की घोषणा की। महाना के अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने भी अपनी बात रखी। जहां एक तरफ योगी ने कहा कि लखनऊ में मंगलवार को विधानसभा का सर्वसम्मति से चयन हुआ है। उन्होंने कहा कि यह सचमुच भारत के लोकतांत्रिक परंपराओं को और मजबूत और पुष्ट करता है। वहीं अखिलेश यादव ने बाधई देते हुए योगी सरकार पर निशाना भी साधा। 

इसे भी पढ़ें: Yogi 2.0 Cabinet: CM योगी ने किया विभागों का बंटवारा, अरविंद कुमार शर्मा को दिया ये मंत्रालय

इशारो-इशारों में अखिलेश का योगी सरकार पर निशाना 

नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने सर्वसम्मति से अध्यक्ष का चुनाव करके सदन में एक स्वस्थ परंपरा की शुरुआत की सराहना की। उन्होंने महाना से एक अध्यक्ष के रूप में तटस्थता से कार्य करने और विपक्ष के अधिकारों की रक्षा करने का आग्रह किया। अखिलेश ने कहा कि उन्हें एक ऐसे अनुभवी विधानसभा अध्यक्ष को बधाई देने का मौका मिला जो समय और परिस्थितियों को समझते हैं, वे जानते हैं कि आज हम कहां खडे़ हैं और कितने कठिन रास्ते आगे तय करने हैं। उन्होंने कहा कि गेम का हिस्सा मत बनिएगा, क्योंकि आप राइट से आए हैं। आप पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। जिस प्रदेश से सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री बने वहां का युवा रोजगार न मिलने पर फांसी लगा रहे हैं।

योगी ने कहा- लोकतंत्र के दो पहिये एक दिशा में चल रहे हैं

योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘मैं इसके लिए सत्‍ता पक्ष, नेता प्रतिपक्ष और सभी दलों के नेताओं और नवनिर्वाचित सदस्यों का उनके चुनाव के लिए और आपके चुनाव के लिए भी हृदय से अभिनंदन करता हूं और धन्यवाद भी देता हूं।’’ योगी ने कहा कि यह अच्छा संकेत है कि लोकतंत्र के दो पहिये (एक सत्‍ता पक्ष और दूसरा विपक्ष) हैं, एक दिशा में चल रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि आज भारत उप्र से अपेक्षा रखता है।  

  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।