असम और मिजोरम के CM संग अमित शाह ने की बैठक, समाधान के लिए राजनीतिक स्तर पर बनेगी टीम

असम और मिजोरम के CM संग अमित शाह ने की बैठक, समाधान के लिए राजनीतिक स्तर पर बनेगी टीम

मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने बताया कि मिज़ोरम के मुख्यमंत्री और मैंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। बैठक में सारी बातों पर चर्चा हुई और दोनों राज्य सरकारों ने ये फैसला किया कि असम और मिज़ोरम सीमा में हम शांति बनाए रखेंगे। इसको हम बहुत संवेदनशील तरीके से लेंगे।

नयी दिल्ली। असम और मिजोरम सीमा विवाद सुलझाने के लिए दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि बैठक में ये फैसला किया कि असम और मिजोरम सीमा में हम शांति बनाए रखेंगे। 

इसे भी पढ़ें: मेघालय के सासंद ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर सीमा विवाद के समाधान का आग्रह किया 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने बताया कि मिज़ोरम के मुख्यमंत्री और मैंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। बैठक में सारी बातों पर चर्चा हुई और दोनों राज्य सरकारों ने ये फैसला किया कि असम और मिज़ोरम सीमा में हम शांति बनाए रखेंगे। इसको हम बहुत संवेदनशील तरीके से लेंगे। उन्होंने कहा कि दोनों सरकार राजनीतिक स्तर पर दो टीम बनाएंगी और वो टीमें एक स्थायी समाधान के लिए बात शुरू करेंगी। बीच-बीच में मुख्यमंत्री स्तर पर भी चर्चा होती रहेगी। 

इसे भी पढ़ें: असम-मिजोरम सीमा विवाद: MHA की बैठक में दोनों सरकारें तटस्थ बलों की तैनाती पर हुई सहमत

जुलाई में हुई थी हिंसा

असम और मिजोरम की सीमाओं को लेकर जुलाई में हिंसा हुई थी। जिसमें असम पुलिस के 5 जवान और एक स्थानीय नागरिक की मौत हो गई थी। जिसके बाद असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा और मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इस मुलाकात के एक दिन पहले दोनों मुख्यमंत्रियों ने नयी दिल्ली स्थित असम हाउस में रात्रिभोज किया था। इस दौरान दोनों के बीच करीब 2 घंटे तक सौहार्दपूर्ण बातचीत हुई।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।