Amit Shah in muzaffarnagar | मुजफ्फरनगर में अमित शाह ने किया दंगों का जिक्र, कहा- यूपी में अब कानून का राज

Amit Shah in muzaffarnagar | मुजफ्फरनगर में अमित शाह ने किया दंगों का जिक्र, कहा- यूपी में अब कानून का राज

शाह ने आगे कहा कि सपा, बसपा के शासन में उत्तर प्रदेश को माफियाओं ने कब्जे में ले लिया था। धर्म और जाति के आधार पर यहां राजनीति करने वालों का यहां बोलबाला था। 2017 में यहां योगी आदित्यनाथ जी की सरकार बनने के बाद सारे गुंडे उत्तर प्रदेश की सीमा से बाहर चले गए।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा पूरा दमखम लगा रही है। आज गृह मंत्री अमित शाह मुजफ्फरनगर में है। मुजफ्फरनगर में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि यही मुजफ्फरनगर है जिसने 2014, 2017 और 2019 में भाजपा की उत्तर प्रदेश में प्रचंड जीत की नींव डालने का काम किया है। यहीं से लहर उठती है जो काशी तक जाती है और हमारे विरोधियों का सूपड़ा साफ कर देती है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का जब मैं प्रभारी बना था, तब शुरु में ही यहां दंगे हुए थे। तब की सरकार में आरोपी ही पीड़ित बन गए थे और जो पीड़ित थे, उन्हें आरोपी बना दिया गया। मैं उन दंगों की पीड़ा को भूला नहीं हूं।

शाह ने आगे कहा कि सपा, बसपा के शासन में उत्तर प्रदेश को माफियाओं ने कब्जे में ले लिया था। धर्म और जाति के आधार पर यहां राजनीति करने वालों का यहां बोलबाला था। 2017 में यहां योगी आदित्यनाथ जी की सरकार बनने के बाद सारे गुंडे उत्तर प्रदेश की सीमा से बाहर चले गए। उन्होंने दावा किया कि पहले की सरकारों के शासन को उत्तर प्रदेश ने देखा है। बहन जी की पार्टी आती थी तो एक जाति की बात करती थी। कांग्रेस पार्टी आती थी तो परिवार की बात करती थी। सपा पार्टी आती थी तो गुंडा, माफिया और तुष्टिकरण की बात करते थे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज भाजपा के पांच साल हो गए, न जाति की बात है, न परिवार वाद की बात है, न गुंडे, माफिया, तुष्टिकरण की बात है। भाजपा के शासन में सिर्फ और सिर्फ सुरक्षा और विकास की बात है। गृह मंत्री ने कहा कि आपका एक वोट उत्तर प्रदेश में माफिया राज भी ला सकता है और वही वोट माफियाराज से मुक्ति भी दिला सकता है। अगर सपा-बसपा की सरकार बनी, तो फिर से माफियाराज आएगा, जातिवाद आएगा। लेकिन अगर भाजपा को वोट दिया तो उत्तर प्रदेश देश का नंबर वन राज्य बनेगा।

इसे भी पढ़ें: सपा-रालोद की संयुक्त प्रेस वार्ता: अखिलेश का बड़ा ऐलान, कहा- 15 दिनों में होगा गन्ने का भुगतान, 300 यूनिट बिजली मुफ्त

अमित शाह ने कहा कि आपका एक वोट उत्तर प्रदेश में माफिया राज भी ला सकता है और वही वोट माफियाराज से मुक्ति भी दिला सकता है। अगर सपा-बसपा की सरकार बनी, तो फिर से माफियाराज आएगा, जातिवाद आएगा। लेकिन अगर भाजपा को वोट दिया तो उत्तर प्रदेश देश का नंबर वन राज्य बनेगा। अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के प्रेस कॉन्फ्रेंस पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि वो कहते हैं कि हम साथ-साथ हैं। मगर ये साथ कब तक है? अगर इसकी सरकार बन गई तो जयंत जी सरकार से निकल जाएंगे और आजम खान वापस आ जाएंगे। यूपी के लोग तो टिकटों के बंटवारे से समझ गए हैं कि आगे क्या होने वाला है। उन्होंने कहा कि भाजपा हर क्षेत्र और हर समाज के हमारे पूर्वजों का सम्मान करने में विश्वास करती है। आज तक राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के नाम पर कुछ नहीं हुआ था, हमने उनके नाम पर अलीगढ़ में विश्वविद्यालय का निर्माण कराने का काम किया।

इसे भी पढ़ें: UP Assembly Election 2022 | पश्चिमी यूपी में ताबड़तोड़ प्रचार में जुटी BJP, सहारनपुर का दौरा करेंगे अमित शाह, नड्डा ने विपक्ष को घेरा

किसानों का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पिछले 10 साल सपा-बसपा सरकार रही, आपने किसानों के लिए क्या किया? मोदी जी ने उत्तर प्रदेश के अंदर 2 करोड़ 53 लाख 58 हजार किसानों को 37 हजार 800 करोड़ रुपये प्रति वर्ष 6 हजार के हिसाब किसानों के खाते में भेजने का काम किया है। उन्होंने कहा कि ये गन्ने का क्षेत्र है, लगभग 1 लाख 48 हजार करोड़ रुपये का गन्ना भुगतान भाजपा की सरकार ने किया है। पहले उत्तर प्रदेश में 21 चीनी मिलें सपा और बसपा के शासन काल मे बंद हो गई। जबकि हमारे समय में एक भी चीनी मिल बंद नहीं हुई। मुझे कुछ किसानों ने बताया कि गन्ना भुगतान में देरी हो जाती है। हमने तय किया है कि भाजपा के घोषणा पत्र में हम घोषणा करने वाले हैं कि जो देरी होगी उसका ब्याज उस मिल से वसूला जाएगा और ब्याज सहित गन्ने का भुगतान किसानों को किया जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...