26/11 का जिक्र करते हुए अमित शाह बोले, मोदी सरकार के रहते इस तरह के हमले संभव नहीं, कांग्रेस पर कसा तंज

Amit Shah addresses
ANI
अंकित सिंह । Nov 26, 2022 9:04PM
अमित शाह ने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस के सत्ता में रहने के दौरान अक्सर आतंकवादी हमले होते थे और पाकिस्तानी आतंकवादी भारतीय सैनिकों की हत्या कर देते थे। लेकिन कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति के चलते कभी भी इसकी निंदा नहीं की।

26 नवंबर 2008 को आज ही के दिन देश को एक बड़ा आतंकी हमले का दर्द झेलना पड़ा था। इसी दिन पाकिस्तानी आतंकवादियों ने मुंबई में 164 लोगों की हत्या कर दी थी। आज देश में इस हमले में जान गंवाने वाले लोगों को याद किया गया और उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। 26/11 का आतंकी हमला चुनाव में भी बड़ा मुद्दा बनता दिखाई दे रहा है। दरअसल, गुजरात में विधानसभा के चुनाव होने हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज गुजरात के भावनगर जिले के तलाजा कस्बे में भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने 2611 आतंकी हमले का जिक्र किया और कांग्रेस पर जबरदस्त तरीके से निशाना साधा। 

इसे भी पढ़ें: 26/11 की अनसुनी कहानी: मिलिए सैंड्रा सैमुअल से, बहादुर नैनी जिसने 2 साल के बच्चे को अपनी जान पर खेल कर बचाया

अमित शाह ने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस के सत्ता में रहने के दौरान अक्सर आतंकवादी हमले होते थे और पाकिस्तानी आतंकवादी भारतीय सैनिकों की हत्या कर देते थे। लेकिन कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति के चलते कभी भी इसकी निंदा नहीं की। उन्होंने 26/11 आतंकी हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए साफ तौर पर कहा कि आज के समय में 26/11 जैसा आतंकी हमला संभव नहीं है क्योंकि देश में नरेंद्र मोदी की सरकार है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह 2004 से 2014 तक 10 वर्षों तक सत्ता में रहे। उनके शासनकाल में पाकिस्तानी आतंकवादी अक्सर भारत में प्रवेश किया करते थे और हमारे सैनिकों की हत्या करते थे और उनके सिर काट देते थे। 

इसे भी पढ़ें: 'आतंकवाद से मानवता को खतरा', जयशंकर ने 26/11 मुंबई हमले के साजिशकर्ताओं को न्याय के कठघरे में लाने का आह्वान किया

इसके साथ ही अमित शाह ने यह भी कहा कि इसके बावजूद भी कांग्रेस ने एक शब्द तक नहीं कहा। क्यों? इसका कारण वोट बैंक है। मैं उम्मीद करता हूं कि आप जानते होंगे कि कांग्रेस का वोट बैंक कौन है। उन्होंने यह भी सवाल किया कि क्या आप अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर से हटाया जाना नहीं चाहते थे? 70 वर्षों तक कांग्रेस के इन नेताओं ने (जवाहरलाल) नेहरू की गलतियों को संरक्षित कर रखा। इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि 26/11 मुंबई हमलों में जान गंवाने वाले लोगों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ और आतंकियों से लड़ते हुए अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले हमारे वीर सुरक्षाकर्मियों का स्मरण कर उन्हें नमन करता हूँ। आज का दिन पूरे विश्व को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने का संदेश देता है।

अन्य न्यूज़