योगी सरकार के एक और मंत्री ने दिया बीजेपी से इस्तीफा, आज तीन विधायकों ने भी छोड़ी पार्टी

योगी सरकार के एक और मंत्री ने दिया बीजेपी से इस्तीफा, आज तीन विधायकों ने भी छोड़ी पार्टी

आज ही शिकोहाबाद से विधायक मुकेश वर्मा ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया था। खबर यह भी है कि औरैया से बिधूना विधायक विनय शाक्य ने भी पार्टी छोड़ दी है। एक और खबर लखीमपुर खीरी से आ रही है जहां से विधायक बाला प्रसाद अवस्थी ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

उत्तर प्रदेश भाजपा का संकट कम होता दिखाई नहीं दे रहा है। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री धर्म सिंह सैनी ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है। धर्म सिंह सैनी योगी सरकार में आयुष मंत्री थे। हालांकि इससे पहले भाजपा छोड़ने की खबरों को उन्होंने खारिज करते हुए कहा था कि मैं पार्टी में हूं और रहूंगा। धर्म सिंह सैनी ने अपने इस्तीफे में लिखा कि मैं योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में आयुष, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग में राज्यमंत्री के रूप में रखकर पूर्ण मनोयोग के साथ उत्तर दायित्व का निर्वहन किया। इसके साथ उन्होंने लिखा कि किंतु जिन अपेक्षाओं के साथ दलितों, पिछड़ों, किसानों, शिक्षित, बेरोजगारों, छोटे एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों ने मिलकर भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड बहुमत से सरकार बनाने का मौका दिया था, उनकी एवं उनके जनप्रतिनिधियों के प्रति लगातार हो रही उपेक्षात्मक रवैये के कारण मैं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे रहा हूं।

खबर के मुताबिक वह सपा में शामिल होंगे। अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि ‘सामाजिक न्याय’ के एक और योद्धा डॉ. धर्म सिंह सैनी जी के आने से, सबका मेल-मिलाप-मिलन करानेवाली हमारी ‘सकारात्मक और प्रगतिशील राजनीति’ को और भी उत्साह व बल मिला है। सपा में उनका ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन! बाइस में समावेशी-सौहार्द की जीत निश्चित है! इससे पहले आज ही शिकोहाबाद से विधायक मुकेश वर्मा ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया था। खबर यह भी है कि औरैया से बिधूना विधायक विनय शाक्य ने भी पार्टी छोड़ दी है। एक और खबर लखीमपुर खीरी से आ रही है जहां से विधायक बाला प्रसाद अवस्थी ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। दूसरी ओर स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक ट्वीट किया है अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि नाग रूपी आरएसएस एवं सांप रूपी भाजपा को स्वामी रूपी नेवला यू.पी. से खत्म करके ही दम लेगा। 

इसे भी पढ़ें: यूपी चुनाव को लेकर एनडीए में बनी सीट बंटवारे पर सहमति, अपना दल और निषाद पार्टी को मिलेंगी इतनी सीटें

भाजपा या लगातार दावा कर रही है कि जिन लोगों का टिकट पार्टी काटने वाली थी वह पहले ही जा रहे हैं। भाजपा के सहयोगी संजय निषाद ने कहा कि चुनाव आयोग के आचार संहिता लगाने के बाद कोई मंत्री और विधायक नहीं रह जाता, उनकी जिम्मेदारी बनती है कि फिर से जनता के बीच जाकर जीत कर आएं। 5 साल जब सत्ता सुख भोगना था तो बीजेपी, गठबंधन और सिस्टम खराब नहीं था। दूसरी ओर आज दिल्ली में भाजपा की एक बड़ी बैठक हुई है जहां पर आगामी विधानसभा चुनाव के लिए नामों का चयन हुआ है। केशव प्रसाद मौर्य के मुताबिक के 172 सीटों पर चर्चा हुई है। उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में भाजपा एक बार फिर से सत्ता में आएगी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।