• हिमाचल प्रदेश से अपनी राजनीतिक पारी की शुरूआत करेंगे अनुपम खेर

अनुपम खेर का शिमला से पुराना नाता है। उनके पिता स्व. पीएन खेर हिमाचल के वन महकमे में सेवारत थे। पीएन खेर व उनकी पत्नी तथा अनुपम की मां दुलारी खेर लंबे समय तक शिमला में फिंगास्क एस्टेट में किराए के मकान में रहे हैं।

शिमला। क्या अगले साल हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों से हिंदी सिनेमा के जाने-माने अभिनेता अनुपम खेर अपनी राजनैतिक पारी की शुरूआत करने जा रहे हैं। यह सवाल इन दिनों शिमला की राजनैतिक गलियारों में खूब चरचा का विषय बना हुआ है चूंकि खेर इन दिनों शिमला में हैं व अनुपम खेर की सक्रियता की वजह से इस चरचा को बल मिला है। दरअसल, हिमाचल प्रदेश में अगले साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। सत्तारूढ भाजपा ने इसके लिये अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं  माना जा रहा है कि अनुपम खेर भाजपा टिकट पर शिमला (ग्रामीण) से चुनाव लड़ सकते हैं।

हिमाचल भाजपा के नेता भी अब दबी जुबान में स्वीकार करने लगे हैं कि अगर अनुपम खेर चुनाव लडऩा चाहें तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता। यही वजह है कि अब शिमला (ग्रामीण) हॉट सीट बन गई है। अनुपम खेर का शिमला से गहरा नाता रहा है। वह गाहे बगाहे शिमला आते जाते रहे हैं। वह इन दिनों अपने मोदी प्रेम की वजह से खासी चर्चा में रहते हैं। अनुपम खेर के शिमला से चुनाव लडऩे की चरचाओं को उस समय ज्यादा बल मिला, जब उन्होंने पिछले दिनों  शिमला के पास टुटू में मकान लिया। टुटू इलाका शिमला (ग्रामीण) विधानसभा सीट के तहत आता है। अनुपम खेर चाहते तो वे शिमला के वीवीआईपी इलाकों यूएस क्लब, न्यू शिमला व छोटा शिमला में शानदार मकान ले सकते थे, लेकिन उन्होंने मकान लिया उपनगर टुटू में। इसके पीछे उनकी सुनियोजित रणनिति है। अनुपम खेर का भाजपा के प्रति झुकाव किसी से छिपा नहीं है। उनकी धर्मपत्नी चंडीगढ़ से भाजपा के टिकट पर लोक सभा चुनाव जीतकर सांसद बनीं हैं।

इसे भी पढ़ें: उद्योग मंत्री ने प्रदेश के विभिन्न मामलों को अनुराग ठाकुर के समक्ष उठाया

अनुपम खेर का शिमला से पुराना नाता है। उनके पिता स्व. पीएन खेर हिमाचल के वन महकमे में सेवारत थे। पीएन खेर व उनकी पत्नी तथा अनुपम की मां दुलारी खेर लंबे समय तक शिमला में फिंगास्क एस्टेट में किराए के मकान में रहे हैं। अनुपम के मां-पिता की ख्वाहिश थी कि उनका शिमला में घर हो। पहले अनुपम खेर का शिमला के समीप शोघी में मकान बनाने का विचार था, लेकिन उन्होंने हाल ही में शिमला के उपनगर टुटू में मकान खरीदा। अनुपम खेर के राजनीति में आने को लेकर आरंभ से ही चर्चा रही है। वे विभिन्न मंचों पर पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों के पक्ष में बोलते आए हैं। भाजपा भी हिमाचल में ऐसे चेहरों को टीम का हिस्सा बनाना चाहती है, जिनकी लोकप्रियता हो। अनुपम खेर शिमला के साथ भावनात्मक रूप से जुड़े रहे हैं। शिमला के डीएवी स्कूल में पढ़ाई, अल्फा रेस्तरां में पिता के साथ महीने में एक बार लाइट स्नैक्स व लक्कड़ बाजार में सीताराम के छोले-भटूरों का जिक्र उन्होंने कई साक्षात्कारों में  कर चुके हैं।