सेना के शौर्य के इस्तेमाल पर पूर्व सैनिकों का आक्रोश, राष्ट्रपति को लिखा पत्र

By अभिनय आकाश | Publish Date: Apr 12 2019 10:08AM
सेना के शौर्य के इस्तेमाल पर पूर्व सैनिकों का आक्रोश, राष्ट्रपति को लिखा पत्र
Image Source: Google

राष्ट्रपति को पत्र लिखने वालों मेंजनरल एसएफ रॉड्रिग्ज, जनरल शंकर रॉय चौधरी, जनरल दीपक कपूर, एडमिरल लक्ष्मीनारायण रामदास, एडमिरल विष्णु भागवत, एडमिरल अरुण प्रकाश, एडमिरल सुरेश मेहता और चीफ मार्शल एनसी सूरी जैसे सैन्य अधिकारी शामिल हैं।

नई दिल्ली। देश के पूर्व सैन्य अधिकारियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सेना के राजनीतिकरण के ख़िलाफ़ चिट्ठी लिखी है। 156 पूर्व सैन्य अधिकारियों ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर सेना के राजनीतिक इस्तेमाल को रोकने का आग्रह किया है। इस चिट्ठी में ये शिकायत की गई है कि राजनेता भारतीय सेना को मोदी जी की सेना बता रहे है साथ ही सर्जिकल स्ट्राइक जैसे सैन्य ऑपरेशन व अभिनंदन की तस्वीर का राजनीतिक इस्तेमाल किया जा रहा है जिसपर रोक लगाने की मांग की गई है।

इसे भी पढ़ें: योगी द्वारा भारतीय सेना को ‘मोदी जी की सेना’ कहने पर ममता ने इसे सेना का अपमान बताया

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के लातूर की रैली में पीएम मोदी ने पहली बार मतदान करने जा रहे मतदाताओं से कहा कि 'वे अपने मत उन बहादुर लोगों को समर्पित करें, जिन्होंने पाकिस्तान के बालाकोट में हवाई हमले को अंजाम दिया'। इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने भी चुनावी रैली में भारतीय सेना को मोदी जी की सेना कह कर संबोधित किया था। राष्ट्रपति को पत्र लिखने वालों मेंजनरल एसएफ रॉड्रिग्ज, जनरल शंकर रॉय चौधरी, जनरल दीपक कपूर, एडमिरल लक्ष्मीनारायण रामदास, एडमिरल विष्णु भागवत, एडमिरल अरुण प्रकाश, एडमिरल सुरेश मेहता और चीफ मार्शल एनसी सूरी जैसे सैन्य अधिकारी शामिल हैं। कांग्रेस पार्टी ने  पत्र की तस्वीर अपने ट्वीट्रर एकांउट से ट्वीट करते हुए लिखा है कि मोदी वोट के लिए सैनिकों का उपयोग करने की कोशिश कर रहे हैं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Video