एक गिरफ्तार करोगे तो एक हजार होंगे पैदा: ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक की गिरफ्तारी पर बोले राहुल गांधी

Rahul Gandhi
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Jun 27, 2022 10:58PM
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी की खबर 'डरो मत' हैशटैग के साथ ट्वीट करते हुए लिखा कि भाजपा की नफरत, कट्टरता और झूठ को उजागर करने वाला हर शख्स उनके लिए खतरा है। सत्य की आवाज उठाने वाले को एक को गिरफ्तार करने पर एक हजार और पैदा होंगे।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सत्य की आवाज उठाने वाले एक को गिरफ्तार करने पर एक हजार और पैदा होंगे। दरअसल, दिल्ली पुलिस ने ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। 

इसे भी पढ़ें: अशोक गहलोत के आरोपों पर आया सचिन पायलट का बयान, राहुल गांधी का जिक्र कर कही ये बड़ी बात 

कांग्रेस सांसद ने मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी की खबर 'डरो मत' हैशटैग के साथ ट्वीट करते हुए लिखा कि भाजपा की नफरत, कट्टरता और झूठ को उजागर करने वाला हर शख्स उनके लिए खतरा है। सत्य की आवाज उठाने वाले को एक को गिरफ्तार करने पर एक हजार और पैदा होंगे। अत्याचार पर सत्य की हमेशा विजय होती है।

आपको बता दें कि मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस के साथ-साथ एआईएआईएम और समाजवादी पार्टी ने भी निंदा की है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि अच्छे नहीं लगते हैं उन झूठ के सौदागरों को सच की पड़ताल करने वाले… जिन्होंने अपनी आस्तीन में हैं पाले, नफ़रत का ज़हर उगलने वाले..  

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने किया प्रधानमंत्री मोदी पर बड़ा हमला, कहा- अपने ‘मित्रों’ को बना रहे 'दौलतवीर' और युवाओं को 4 साल के ठेके पर 'अग्निवीर' 

मोहम्मद जुबैर की हुई गिरफ्तारी

दिल्ली पुलिस ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और दुश्मनी को बढ़ावा देने के आरोप में मोहम्मद जुबैर को गिरफ्तार किया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक को दिल्ली पुलिस ने आईपीसी की धारा 153/295 के तहत गिरफ़्तार किया। आज मोहम्मद जुबैर के खिलाफ आईपीसी की धारा 153A/295A के तहत दर्ज़ एक मामले की जांच के दौरान, वे जांच में शामिल हुए। रिकॉर्ड पर पर्याप्त सबूत होने के चलते उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़