सोनिया गांधी से मुलाकात, 2 घंटे तक हुई बात, अशोक गहलोत बोले- जो भी जिम्मेदारी मिलेगी वो निभाऊंगा

Ashok Gehlot
Creative Common
अभिनय आकाश । Sep 21, 2022 7:14PM
करीब दो घंटे सोनिया गांधी और अशोक गहलोत के बीच बातचीत चली है। गहलोत की गिनकी गांधी परिवार के वफादारों में होती रही है।

कांग्रेस में अध्यक्ष पद को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। गांधी परिवार की तरफ से अशोक गहलोत पर दांव लगाने की खबर है। वहीं जी 23 की तरफ से शशि थरूर को आगे किया गया है। इन सब के बीच कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर चर्चा के बीच सोनिया गांधी से दिल्ली में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुलाकात की है। करीब दो घंटे सोनिया गांधी और अशोक गहलोत के बीच बातचीत चली है। गहलोत की गिनकी गांधी परिवार के वफादारों में होती रही है।

इसे भी पढ़ें: विपक्षी नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज कराना केंद्र की प्रमुख परियोजना प्रतीत होती है: शरद पवार

इससे पहले भी जब सोनिया गांधी अपना इलाज कराने विदेश जा रही थीं तो उन्होंने गहलतो से कहा था कि वो पार्टी को अध्यक्ष के तौर पर देखें। हालांकि उस वक्त अशोक गहलोत इसके लिए तैयार नहीं हुए थे। सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद अशोक गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हाईकामन से सबकुछ प्राप्त हुआ। हमारे लिए पद महत्वपूर्ण नहीं है। जो भी जिम्मेदारी मिलेगी वो निभाऊंगा।  

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक सरकार के खिलाफ कांग्रेस का PayCM कैंपेन, बोम्मई के चेहरे पर लगाया QR कोड

राजस्थान की मुख्यमंत्री की कुर्सी से उनके लगाव को लेकर भी चर्चा तेज है। बीते दिन देर रात पहले तो गहलोत ने विधायक दल की बैठक की और फिर दिल्ली दरबार में पहुंच गए। लेकिन जैसे ही अध्यक्ष पद का सवाल अध्यक्ष पद से सीएम की कुर्सी पर आया वहीं फट से कह दिया कि दो-दो पद का मुद्दा यहां लागू नहीं होता। मधुसुदन मिस्त्री ने कहा कि पार्टी संविधान में दो पद वाली शर्त नहीं। इससे पहले शशि थरूर ने आज चुनाव समिति से मुलाकात की है।  कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री से मुलाकात की थी। मिस्त्री ने कहा कि हमने कांग्रेस के अध्यक्ष चुनाव के संबंध में उनके (शशि थरूर) सभी सवालों का जवाब दिया।

अन्य न्यूज़