• बाबे दा व्याह पर्व के पवित्र अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा बटाला और मोहाली से राज्यव्यापी रेडियोलॉजी और डायगनौस्टिक प्रोजेक्टों की डिजिटल शुरूआत

श्री गुरु नानक देव जी और माता सुलक्खनी जी के 534वें विवाह पर्व के पवित्र अवसर पर मुख्यमंत्री ने सिविल अस्पताल बटाला में नवीन ‘मुख्यमंत्री ई-क्लीनिक सेवा’ की शुरुआत भी की, जिससे ग्रामीण क्षेत्र में बसने वाले लोगों को माहिर डॉक्टरों की सेवाएं आसानी से मिल सकेंगी।

चंडीगढ़ बेहतरीन और किफ़ायती स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करने की ओर क्रांतिकारी कदम उठाते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज 125 करोड़ रुपए की लागत वाले प्रोजैक्ट ‘राज्यव्यापी रेडियो डायग्नौस्टिक और लैबोरेट्री सेवा’ और ‘नई सूरत वाली 108 एंबुलेंस एमरजैंसी रिस्पॉन्स सेवा’ वर्चुअल ढंग से राज्य के निवासियों को समर्पित की।

श्री गुरु नानक देव जी और माता सुलक्खनी जी के 534वें विवाह पर्व के पवित्र अवसर पर मुख्यमंत्री ने सिविल अस्पताल बटाला में नवीन ‘मुख्यमंत्री ई-क्लीनिक सेवा’ की शुरुआत भी की, जिससे ग्रामीण क्षेत्र में बसने वाले लोगों को माहिर डॉक्टरों की सेवाएं आसानी से मिल सकेंगी।

इसे भी पढ़ें: राखी बंपर का पहला इनाम पंजाब पुलिस के सहायक सब इंस्पेक्टर के नाम ; इनामी राशी से बच्चों की पढ़ाई का स्वप्न करेगा साकार

समूह लोगों को विवाह पर्व की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि इन सेवाओं को शुरू करने के लिए इससे बढिय़ा दिन कोई और नहीं हो सकता था। उन्होंने कहा कि नवंबर के अंत तक राज्य भर में शुरू होने वाली इन विशिष्ट मेडिकल सुविधाओं से गऱीब और ज़रूरतमंदों को भी निजी क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं के सुपर-स्पैशलिस्ट डॉक्टरों की सेवाएं भी मिल सकेंगी, जो पहले उनकी पहुँच से बाहर थीं। 

उन्होंने बताया कि इस प्रोजैक्ट के अंतर्गत पंजाब को छह भागों में बाँटा गया है, जिसके अंतर्गत 80 करोड़ रुपए की लागत के साथ हरेक जि़ला अस्पताल के लिए एक एम.आर.आई. और 25 सी.टी. स्कैन सुविधाओं के अलावा 23 जिलों में 25 करोड़ की लागत से हमारे लोगों को 24 घंटे चिकित्सा संबंधी सेवाएं मुहैया करवाने को युनिश्चित बनाने के लिए रैफरैंस लैब, 30 जि़ला लैबोरेटरियाँ और 95 क्लैकशन केंद्र शामिल होंगे, जो सभी जिलों को कवर करेंगे।

उन्होंने कहा कि लैब टैस्ट बड़े ही किफ़ायती दरों पर मुहैया किए जाएंगे और कुल मरीज़ों में से 5 प्रतिशत गरीब और जरूरतमंद मरीज़ों को यह सुविधा बिल्कुल मुफ़्त दी जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के इस प्रोग्राम के ज़रिये 750 नौजवानों के लिए नौकरी के रास्ते खुले हैं, जिनको तकनीशियन के तौर पर प्रशिक्षित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के चलते पंजाब सरकार ने अपनी स्वास्थ्य सेवाओं को अपग्रेड किया है, जो कोविड महामारी के समय बहुत ज़रूरी था। उन्होंने कहा कि मेडिकल डिलीवरी सिस्टम में वृद्धि से लाभार्थियों के लिए मेडिकल टेस्टिंग का ख़र्च 65 से 70 प्रतिशत घटेगा।

मुख्यमंत्री ने बताया कि बटाला से शुरू किए गए ई-क्लीनिक पायलट प्रोजैक्ट के अंतर्गत गाँवों और दूर-दराज़ के इलाकों के मरीज़ टेली-कंसलटैंसी के द्वारा चिकित्सा संबंधी विशेषज्ञों की सेवाएं ले सकेंगे और इसकी सफलता के बाद इसको नज़दीकी भविष्य में पंजाब भर में शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह प्रोजैक्ट पंजाब सरकार द्वारा पी.पी.पी. मोड के द्वारा ‘कर्सना डायग्नौस्टिक लिमटिड’ के सहयोग से शुरू किया गया है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने बटाला की 13 ग्रामीण डिस्पैंसरियों की बॉर्डर एरिया डिवल्पमेंट फंड के द्वारा मरम्मत करने को मंज़ूरी दी, जिससे इलाके में स्वास्थ्य सेवाओं को और मज़बूत एवं बेहतर किया जा सके।

उन्होंने कहा कि नयी सूरत वाली 108 एंबुलेंस एमरजैंसी रिस्पांस सिस्टम सर्विस को और बेहतर बनाया गया है और 104 और 112 मैडीकल हेल्प लाईनें अब एमरजैंसी के समय और भी तेज़ रिस्पांस देंगी। अब मरीज़ के रिश्तेदार एंबुलेंस की लोकेशन ऑनलाईन ट्रेस कर सकेंगे।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा पहले ही एंबुलेंसों की संख्या बढ़ाकर 325 की गई थी, जो अगले दिनों के दौरान और बढ़ाकर 400 की जा रही है और 23 एडवांस लाईफ़ स्पोर्ट ऐंबुलैंसों को भी बेड़े में शामिल किया गया है।

इससे पहले अपने संबोधन के दौरान स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने श्री गुरु नानक देव जी के विवाह पर्व के शुभ मौके पर मोहाली को यह कीमती तोहफ़ा देने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। पंजाब को बढिय़ा मैडीकल बुनियादी ढांचे वाला सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के मुख्यमंत्री के दृष्टिकोण की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने बीते साढ़े चार सालों में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत बड़े सुधार किए हैं और जो प्रोग्राम आज शुरू किया गया है, इससे हर बीमार व्यक्ति को सुपर स्पैशलिस्ट डॉक्टरों की सेवाएं मिलने के साथ-साथ बहुत ही सस्ती दरों पर टैस्टों की सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि ई-क्लीनिक सेवा शुरू होने से गाँवों और दूरगामी इलाकों के निवासियों को माहिर डाक्टरों की सेवाएं आसानी से मिल सकेंगी।

विवाह पर्व के मौके पर माता सुलक्खनी जी सिविल अस्पताल बटाला में ई-क्लीनिक और लैब डायग्रोस्टिक केंद्र की शुरुआत करने के लिए मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह का धन्यवाद करते हुए पंजाब हैल्थ सिस्टम्ज़ कॉर्पोरेशन के चेयरमैन अश्वनी सेखड़ी ने कहा कि उन्होंने चेयरमैन बनते ही यह स्वप्न लिया था कि बटाला के सिविल अस्पताल में ई-क्लीनिक सेवा और लैब डायग्नोस्टिक केंद्र की शुरुआत की जाए। उन्होंने कहा कि 35 दिनों के रिकॉर्ड समय में मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री द्वारा इस प्रोजैक्ट को मंज़ूर करके शुरू भी कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि ऐसी सेवाओं देने की शुरुआत करने वाला राज्य पंजाब अब देश का अग्रणी राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि बटाला को ई-क्लीनिक सुविधा शुरू करने के लिए चुनने के लिए बटाला निवासी मुख्यमंत्री के शुक्रगुजार हैं जिससे दूर-दराज के क्षेत्रों में भी मरीज़ों को विश्व स्तरीय मेडिकल कौंसलिंग सुविधा मिलेगी।

इस अवसर पर पंजाब हैल्थ सिस्टम्ज़ कॉर्पोरेशन की एम.डी. तनु कश्यप ने सभी का धन्यवाद किया।