'आम' से 'खास' हुए भगवंत मान, काफिले में होंगी 42 गाड़ियां, बादल और अमरिंदर सिंह को भी छोड़ा पीछे

Bhagwant Mann
ANI
अंकित सिंह । Sep 29, 2022 1:49PM
कांग्रेस विधायक दल के नेता प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि चौंकाने वाला खुलासा- सीएम बादल के पास 2007-17 के दौरान उनके काफिले में 33 वाहन थे और कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम बनने पर वाहनों की संख्या में कोई बदलाव नहीं हुआ था।

खुद को बेहद आम बताने वाले पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान अब वीवीआईपी हो गए हैं। दरअसल, भगवंत मान आम आदमी पार्टी के नेता हैं। जब आम आदमी पार्टी की स्थापना हुई थी तो इसके संयोजक अरविंद केजरीवाल ने साफ तौर पर कहा था कि हम लोग जनता के बीच रहेंगे। आम लोगों की तरह बर्ताव करेंगे। हम वीआईपी कल्चर को कम करेंगे। हालांकि, भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनने के साथ ही अब वह आम से खास हो गए हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि उनके काफिले में 42 लग्जरी कारें चलेंगी। इस मामले में भगवंत मान पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्रियों से भी आगे निकल गए हैं। उन्होंने प्रकाश सिंह बादल और कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी पीछे छोड़ दिया है। दोनों नेताओं के काफिले में मुख्यमंत्री रहने के दौरान 33 कारें चला करते थी।

इसे भी पढ़ें: शहीद भगत सिंह के नाम पर होगा चंडीगढ़ एयरपोर्ट का नामकरण, भगवंत मान बोले- थैंक्यू मोदी जी

उस दौरान भगवंत मान अमरिंदर सिंह और प्रकाश सिंह बादल पर निशाना साधते थे। अब वही भगवंत मान 42 कारों के काफिले के साथ चल रहे हैं। जानकारी के मुताबिक पंजाब में 2007 से 2012 तक मुख्यमंत्री के साथ 35 गाड़ियां रहती थी। 2012 से 2017 के दौरान में भी 33 गाड़ियां ही देखी गई। 2017 से 2021 तक 33 गाड़ियां थीं। वहीं, 2021 से 2022 तक 39 गाड़ियां देखी गई। लेकिन अब मुख्यमंत्री के काफिले में 42 गाड़ियां शामिल होंगी जोकि अपने आप में बेहद खास है। अब इसको लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस जबरदस्त तरीके से मुख्यमंत्री भगवंत मान पर हमलावर है। कांग्रेस विधायक दल के नेता प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि चौंकाने वाला खुलासा- सीएम बादल के पास 2007-17 के दौरान उनके काफिले में 33 वाहन थे और कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम बनने पर वाहनों की संख्या में कोई बदलाव नहीं हुआ था। 

इसे भी पढ़ें: गुरु नानक देव विवि में भगत सिंह के नाम पर पीठ स्थापित करेगी पंजाब सरकार: भगवंत मान

प्रताप सिंह बाजवा ने आगे कहा कि आरटीआई के माध्यम से यह खुलासा हुआ है कि सीएम मान "तथाकथित आम आदमी" हैं। उनके काफिले में 42 कारें हैं। उन्होंने कहा कि अतीत में श्री मान सवाल करते थे कि "राजा और महाराजा" इतने सारे वाहनों के काफिले का क्या करते हैं? क्या अब खुद सीएम मान स्पष्ट करेंगे कि 42 वाहनों के काफिले के साथ क्या कर रहे हैं? क्या इसी बदलाव के लिए आप ने वादा किया था? कांग्रेस विधायक सुखपाल सिंह खैरा ने भी इसको लेकर ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि हमारे मित्र भगवंत मान राजनेताओं का मजाक बनाते थे कि जो लोग अतिरिक्त सुरक्षा चाहते हैं वह लोगों से डरते हैं। अच्छा होगा कि वे मुर्गी खाना खोल लें। अब हमारे आम आदमी के दोस्त को 42 कारों की जरूरत है क्योंकि सीएम बादल और कैप्टन को हरा रहे हैं। यह बड़े पैमाने पर बदलाव है। 

अन्य न्यूज़