नर्मदा और गौ संरक्षण की मांगों को लेकर भैयाजी सरकार ने शुरू किया सत्याग्रह

  •  दिनेश शुक्ल
  •  नवंबर 30, 2020   23:00
  • Like
नर्मदा और गौ संरक्षण की मांगों को लेकर भैयाजी सरकार ने शुरू किया सत्याग्रह

भैयाजी सरकार धूनी वाले द्वारा विगत 46 दिन से अन्न त्याग कर मां नर्मदा गौ सत्याग्रह किया जा रहा है। जबलपुर, मंडला आदि अनेक नर्मदा तटों पर उनके समर्थकों के द्वारा इस सत्याग्रह को समर्थन दिया जा रहा है।

होशंगाबाद। मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में नर्मदा और गौ संरक्षण की मांग को लेकर बीते 46 दिनों से सत्याग्रह कर रहे संत भैयाजी सरकार ने सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा से जिले के बांद्राभान संगम तट पर सत्याग्रह शुरू कर दिया है। उनके साथ नर्मदा मिशन से जुड़े कई संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा सत्याग्रह किया जा रहा है। मां नर्मदा की पूजन अर्चन के साथ सत्याग्रह सोमवार सुबह 9 बजे से शुरू हो गया है। जिसमें शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सैंकड़ों लोग जुड़ते जा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: अपने साथी बलराम की मौत के बाद हिंसक हुआ हाथी राम, दो लोगों पर किया हमला

भैयाजी सरकार धूनी वाले द्वारा विगत 46 दिन से अन्न त्याग कर मां नर्मदा गौ सत्याग्रह किया जा रहा है। जबलपुर,  मंडला आदि अनेक नर्मदा तटों पर उनके समर्थकों के द्वारा इस सत्याग्रह को समर्थन दिया जा रहा है। ब्रांदाभान में सत्याग्रह से पूर्व संत भैयाजी सरकार ने कहा कि माँ नर्मदा के रिपेरियन जोन जो कि 300 मीटर में हाईकोर्ट द्वारा निर्धारित किया गया है, इस तटीय क्षेत्र को संरक्षित करने, माँ नर्मदा को जीवंत इकाई का दर्जा देने की मांग, गौ संरक्षण, गौचर विकास की मांग को लेकर सत्याग्रह जारी है। उन्होंने बताया कि नर्मदा गौ सत्याग्रह जनजागरण जन आंदोलन समिति मध्य प्रदेश के द्वारा यह सत्याग्रह किया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के अनेक संगठन शामिल हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: जबलपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने 50 लाख के साथ दो नाबालिग लड़कियों को पकड़ा

ये हैं प्रमुख मांगे

- हाईकोर्ट के आदेशानुसार नर्मदा के दोनों ओर 300 मीटर तक प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर तत्काल संरक्षित किया जाए।

- मां नर्मदा को जीवंत इकाई का दर्जा देकर ठोस नीति व कानून बनाए जाए।

- हरित क्षेत्र में अवैध निर्माण, अतिक्रमण, भंडारण, खनन प्रतिबंधित किया जाए। 

- अमरकंटक तीर्थ क्षेत्र में हो रहे निर्माण अतिक्रमण खनन पूर्णतः प्रतिबंधित किया जाए।

- नर्मदा के जल में मिल रहे गंदे नालों विषेले रासायनों को बंद करने व अपशिष्ट द्रव्य पदार्थों के प्रबंधन हेतु प्रभावी ठोस कार्ययोजना लागू की जाए।

- बेसहारा गौ वंश के लिए आरक्षित नगरीय निकायों की गौचर भूमि को संरक्षित किया जाए एवं अवैध अतिक्रमण निर्माण कब्जा से मुक्त कराया जाए।

- नर्मदा पथ के तटवर्ती गांव नगरों को जैवविविधता क्षेत्र घोषित कर समग्र गौ-नीति, गौ अभ्यारण बनाया जाए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


CWC बैठक: चुनाव कार्यक्रम बढ़ा आगे, अब जून के आखिरी तक कांग्रेस को मिल जाएगा अध्यक्ष

  •  अनुराग गुप्ता
  •  जनवरी 22, 2021   15:57
  • Like
CWC बैठक: चुनाव कार्यक्रम बढ़ा आगे, अब जून के आखिरी तक कांग्रेस को मिल जाएगा अध्यक्ष

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है और जून के आखिरी तक कांग्रेस को नया अध्यक्ष मिल जाएगा।

नयी दिल्ली। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपन्न हुई। जिसमें तीन प्रस्ताव पर कार्यसमिति ने अपनी मुहर लगा दी है। बैठक के बाद पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रेस वार्ता में बताया कि संगठन चुनाव को लेकर केंद्रीय चुनाव समिति ने मई के आखिरी तक कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव करने का प्रस्ताव रखा था।  

इसे भी पढ़ें: CWC की बैठक: कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव मई में कराने की संभावना 

सुरजेवाला ने आगे बताया कि कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्यों ने एकमत से अपने विचार रखते हुए कहा कि पांच राज्यों में जो चुनाव होने हैं उनकी प्रक्रिया चल रही होगी और मई मतदान हो रहे होंगे। इसीलिए एक महीने आगे तक कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को बढ़ा दिया जाए। इसके लिए सदस्यों ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी से अनुरोध किया।

सुरजेवाला ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है और जून के आखिरी तक कांग्रेस को नया अध्यक्ष मिल जाएगा। वहीं, कांग्रेस संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल ने बताया कि कांग्रेस कार्यसमिति ने किसानों के साथ मजबूती से खड़े रहने का निर्णय किया। इसे लेकर हमने प्रस्ताव पास किया है। कार्यसमिति ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए ऊपर से नीचे के स्तर तक की कार्ययोजना तैयार की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


CWC ने की मांग, अर्णब के व्हाट्सएप चैट को लेकर की जाए जेपीसी जांच

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   15:49
  • Like
CWC ने की मांग, अर्णब के व्हाट्सएप चैट को लेकर की जाए जेपीसी जांच

सीडब्ल्यूसी ने कहा कि व्हाट्सएप बातचीत मामले की जेपीसी जांच की जाए।सीडब्ल्यूसी की बैठक में व्हाट्सएप बातचीत मामले, कृषि कानूनों और कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के मुद्दों को लेकर तीन अलग अलग प्रस्ताव पारित किए गए।

नयी दिल्ली।कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने ‘रिपब्लिक टीवी’ के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी की कथित व्हाट्सएप बातचीत को राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करार दिया और कहा कि इस मामले की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराई जानी चाहिए। सीडब्ल्यूसी की बैठक में व्हाट्सएप बातचीत मामले, कृषि कानूनों और कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के मुद्दों को लेकर तीन अलग अलग प्रस्ताव पारित किए गए। कांग्रेस कार्य समिति ने सरकार से तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने और कोरोना वायरस के टीके लगवा रहे स्वास्थ्यकर्मियों की चिंताओं को दूर करने के लिए आवश्यक उपाय करने और ‘मुनाफाखोरी’ रोकने का आग्रह किया।

इसे भी पढ़ें: देश में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दल परिवारवाद से ग्रस्‍त: जेपी नड्डा

व्हाट्सएप बातचीत मामले का उल्लेख करते हुए प्रस्ताव में कहा गया है, ‘‘सरकारी गोपनीयता अधिनियम का उल्लंघन हुआ है तथा राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ भी किया गया है। हम इसकी जेपीसी से जांच कराने की मांग करते हैं। जो लोग भी राजद्रोह के दोषी हैं, उन्हें कानून की जद में लाया जाना चाहिए और सजा दी जानी चाहिए।’’ कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि संसद के आगामी सत्र में पार्टी समान विचारधारा वाले दलों के साथ मिलकर ‘किसान विरोधी कानूनों’ का विरोध करेगी और सरकार पर दबाव बनाएगी कि वह इन कानूनों को निरस्त करे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


अचानक बिगड़ी लालू यादव की तबीयत, सांस लेने में हो रही दिक्कत

  •  अंकित सिंह
  •  जनवरी 22, 2021   15:45
  • Like
अचानक बिगड़ी लालू यादव की तबीयत, सांस लेने में हो रही दिक्कत

लालू प्रसाद डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदयरोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, तनाव जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। रांची के डॉक्टर लगातार दिल्ली के डॉक्टरों के संपर्क में है।

गुरुवार शाम राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की तबीयत अचानक बिगड़ गई। लालू यादव फिलहाल चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता हैं। बताया जा रहा है कि उन्हें अचानक सांस लेने में दिक्कत होने लगी। फिलहाल उनकी तबीयत स्थिर है और डॉक्टरों की गहन निगरानी में हैं। इस खबर के साथ ही लालू परिवार में बेचैनी बढ़ गई। लालू के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव, पत्नी राबड़ी देवी और मीसा भारती भी रांची पहुंच रहे हैं।

आनन-फानन में लालू प्रसाद यादव की कोरोना टेस्ट करवाई गई जो कि नेगेटिव आई है। सूत्रों के मुताबिक लालू प्रसाद डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदयरोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, तनाव जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। रांची के डॉक्टर लगातार दिल्ली के डॉक्टरों के संपर्क में है। खबर आने के साथ झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उनका हाल जानने अस्पताल पहुंचे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept