जबलपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने 50 लाख के साथ दो नाबालिग लड़कियों को पकड़ा

  •  दिनेश शुक्ल
  •  नवंबर 30, 2020   22:15
  • Like
जबलपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने 50 लाख के साथ दो नाबालिग लड़कियों को पकड़ा

आरपीएफ डीएससी अरुण कुमार ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध गतिविधियों पर लगातार नजर रखी जा रही है। बीती रात आरपीएफ के जवान स्टेशन पर जांच मशीन में यात्रियों का लगेज चेक कर रहे थे। इस दौरान एक नाबालिग युवती के बैग की जांच की गई तो उसमें कुछ संदिग्ध चीजें होने की जानकारी मिली।

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर रेलवे स्टेशन पर बीती रात रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने चैकिंग के दौरान एक नाबालिग युवती के बैग से 50 लाख रुपये की नगद राशि बरामद की है। आरपीएफ ने नाबालिग को हिरासत में लिया है और मामले की जानकारी आयकर विभाग को दी है। आरपीएफ का कहना है कि यह राशि हवाला की हो सकती है। पूछताछ के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के शहडोल में छह बच्चों की मौत, मुख्यमंत्री ने दिए जाँच के निर्देश

आरपीएफ डीएससी अरुण कुमार ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध गतिविधियों पर लगातार नजर रखी जा रही है। बीती रात आरपीएफ के जवान स्टेशन पर जांच मशीन में यात्रियों का लगेज चेक कर रहे थे। इस दौरान एक नाबालिग युवती के बैग की जांच की गई तो उसमें कुछ संदिग्ध चीजें होने की जानकारी मिली। अधिकारियों ने तत्काल बैग की जांच की तो उसमें कुछ बंडल नजर आए। जब बंडल खोलकर देखे गए तो उनमें 50 लाख रुपये बंधे मिले।

इसे भी पढ़ें: माँ के साथ गाली गलौज कर रहे पिता पर पुत्र ने किया प्राणघातक हमला, इलाज के दौरान हुई मौत

रेलवे सुरक्षा बल  ने नगद राशि जब्त कर नाबालिग युवती को हिरासत में ले लिया है और फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है। प्रारम्भिक जांच में पता चला है कि युवती किसी के कहने पर यह पैसे कही लेकर जाकर जा रही थी। बताया गया है कि नाबालिग युवती के साथ एक अन्य युवती भी थी और आरपीएस की कार्रवाई होते देख मौके से फरार हो गई। आरपीएस डीएसपी की कहना है कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। आयकर विभाग की टीम भी पहुंच गई है। जांच के बाद ही मामले में स्थिति स्पष्ट हो सकती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


देश में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दल परिवारवाद से ग्रस्‍त: जेपी नड्डा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   15:02
  • Like
देश में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दल परिवारवाद से ग्रस्‍त: जेपी नड्डा

नड्डा ने लखनऊ जिले के बूथ अध्‍यक्षों के सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि देश की राष्‍ट्रीय पार्टियाँ हों या क्षेत्रीय पार्टी, सभी परिवारवाद से ग्रस्त हैं और वहां बेटों को पिता द्वारा राजनीति विरासत में दी जाती है।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को कहा कि देश में भाजपा को छोड़ कर सभी राजनीतिक दल परिवारवाद से ग्रस्त हैं। नड्डा ने लखनऊ जिले के बूथ अध्‍यक्षों के सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि देश की राष्‍ट्रीय पार्टियाँ हों या क्षेत्रीय पार्टी, सभी परिवारवाद से ग्रस्त हैं और वहां बेटों को पिता द्वारा राजनीति विरासत में दी जाती है। उन्‍होंने कहा, पूरे देश में नजर दौड़ा कर देखिए, सभी दल परिवारवाद के घेरे में है, सिर्फ भाजपा ही ऐसी पार्टी है जहां साधारण परिवार से आने वाला व्‍यक्ति भारत का प्रधानमंत्री बनकर देश की तकदीर बदल देता है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा अध्यक्ष पर राहुल का पलटवार, पूछा- कौन हैं नड्डा

हां सामान्‍य परिवार का बेटा रक्षा मंत्री बनता है, भारत के राष्‍ट्रपति बनते हैं और उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बनते हैं। उन्‍होंने कहा, ‘‘देश में अगर 1500 राजनीतिक दल हैं तो उनमें कुछ राष्‍ट्रीय और कुछ क्षेत्रीय स्‍तर पर हैं। लेकिन मैं हमेशा कहता हूं कि जिसको भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में काम करने का मौका मिला उसे राजनीति की दृष्टि से अपने को सर्वाधिक भाग्‍यशाली समझना चाहिए। नड्डा ने कहा कि दूसरे राजनीतिक दलों के पास न नीति है, न नीयत है और न नेता हैं लेकिन भाजपा अकेली ऐसी पार्टी है जिसके पास नीति, नीयत और कार्यकर्ताओं के साथ मोदी और योगी जैसे नेता भी हैं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस की नीति ‘विरोध-अवरोध’ की, नहीं चाहती सरकार की किसानों से वार्ता सफल हो: भाजपा

उन्‍होंने कहा कि कोरोना संक्रमण में मोदी ने सही समय पर सही फैसला लेकर 130 करोड़ के देश के बचाया है और आज भारत कोविड से लड़ने के लिए तैयार हुआ और सबसे अच्‍छी रिकवरी रेट भारत की है। उन्‍होंने कहा कि उप्र सरकार ने सिर्फ उप्र के मजदूरों की ही नहीं बल्कि इस राज्‍य से गुजरने वाले अन्‍य राज्‍यों के मजदूरों की भी चिंता की। उन्‍होंने इसके लिए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को बधाई दी।

नड्डा ने कहा कि मोदी के प्रयास से पात्र किसानों के खाते में शत प्रतिशत धनराशि पहुंची है। नड्डा ने अपने संबोधन में राम जन्‍म भूमि मं‍दिर निर्माण की चर्चा के साथ ही तीन तलाक का भी जिक्र किया और कहा कि मोदी जी ने तमाम परिवर्तन किये हैं और आप इस परिवर्तन में साझीदार बनने से न चूकिये। इससे पहले बूथ सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि लोकतांत्रिक मूल्‍यों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के बल पर भारतीय जनता पार्टी ने सभी राजनीतिक दलों के लिए एक मानक तय किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


प्रतापगढ़ में देशी शराब का सेवन करने से दो मजदूरों की मौत, चार बीमार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   14:39
  • Like
प्रतापगढ़ में देशी शराब का सेवन करने से दो मजदूरों की मौत, चार बीमार

प्रतापगढ़ जिले के थाना कोहड़ौर अंतर्गत चन्द्रभानपुर गांव में ईंट भट्ठे में काम करने वालेदो मजदूरों की कथित तौर पर ज़हरीली शराब पीने से मौत हो गई और चार लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए।

प्रतापगढ़ (उप्र)। प्रतापगढ़ जिले के थाना कोहड़ौर अंतर्गत चन्द्रभानपुर गांव में ईंट भट्ठे में काम करने वालेदो मजदूरों की कथित तौर पर ज़हरीली शराब पीने से मौत हो गई और चार लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए। अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र द्विवेदी ने शुक्रवार को बताया कि “थाना कोहड़ौर क्षेत्र के चन्द्रभानपुर गाँव में मुन्ना पाण्डेय का ईंट भट्ठा है,जहां छत्तीसगढ़ और ओडिशा के मजदूर काम करते हैं। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह मजदूर रोहित (35) की स्थिति बिगड़ने पर उसे स्थानीय चिकित्सालय ले जाया गया।

इसे भी पढ़ें: शिअद नेता मनजिंदर सिंह सिरसा का दावा, UP पुलिस ने उन्हें किया गिरफ्तार, ट्वीट कर दी जानकारी

उन्होंने बताया चिकित्सकों ने रोहित को जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया ,जहां रास्ते में उसकी मौत हो गई और पुलिस को सूचित किए बिना प्रयागराज में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उन्होंने कहा कि शाम को लैल (40), कंशु (60), उसकी पत्नी खंती (58), चिन्ताराम (55),बुधेसर (45)की स्थिति बिगड़ने पर उपचार हेतु उन्हें जिला चिकित्सालय ले जाया गया,जहां चिकित्सकों ने लैल को मृत घोषित कर दिया।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित छह और व्यक्तियों की मौत, 195 नए मरीज

उन्होंने बताया कि पुलिस ने लैल के शव को पोस्ट्मॉर्टम के लिए कब्जे में लिया है, रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। मृतक रोहित की पत्नी शिवानी का आरोप है कि उसके पति और लैल की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


पश्चिम बंगाल के ममता बनर्जी मंत्रिमंडल से एक और नेता ने दिया इस्तीफा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   14:38
  • Like
पश्चिम बंगाल के ममता बनर्जी मंत्रिमंडल से एक और नेता ने दिया इस्तीफा

पश्चिम बंगाल के मंत्री ने ममता बनर्जी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस्तीफा देने का कोई कारण नहीं बताया। उन्होंने पत्र में लिखा, ‘‘पश्चिम बंगाल के लोगों की सेवा करना बड़े सम्मान की बात है। यह अवसर देने के लिए मैं दिल से आभार व्यक्त करता हूं।’’

कोलकाता।पश्चिम बंगाल में आसन्न विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शुक्रवार को उस वक्त एक और झटका लगा जब राज्य के वनमंत्री राजीव बनर्जी ने राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। बनर्जी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर सूचित किया कि वह कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने इस्तीफा देने का कोई कारण नहीं बताया। उन्होंने पत्र में लिखा, ‘‘पश्चिम बंगाल के लोगों की सेवा करना बड़े सम्मान की बात है। यह अवसर देने के लिए मैं दिल से आभार व्यक्त करता हूं।’’

इसे भी पढ़ें: CWC की बैठक: कांग्रेस अध्यक्ष समेत, संगठन का चुनाव मई में कराने की संभावना

डोमजूड़ का प्रतिनिधित्व करने वाले बनर्जी पिछले कुछ सप्ताह से सत्तारूढ़ पार्टी के एक धड़े के खिलाफ अपनी आवाज उठा रहे थे। बनर्जी ने यह भी कहा कि इस्तीफे की एक प्रति राज्यपाल जगदीप धनखड़ को ‘आवश्यक कार्रवाई’ के लिए भेजी गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept