विपक्ष सशर्त जदयू का साथ देने को तैयार, अमित शाह ने नीतीश से फोन पर की बात, मंगलवार को होने वाली बैठक में बन सकती है अहम रणनीति

Nitish Kumar
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Aug 08, 2022 10:28PM
राजनीतिक संकट के बीच विपक्षी पार्टियां नीतीश कुमार का भाजपा छोड़ने पर साथ देने के लिए तैयार हैं। कांग्रेस और वामदलों ने संकेत दिया कि अगर ऐसा होता है तो वे इसका समर्थन करेंगे। इसके अलावा लालू प्रसाद यादव नीत राजद के विधायक दल की बैठक मंगलवार को होगी।

नयी दिल्ली। बिहार में सरकार बदलने की अटकलें तेज हो गई हैं। इसी बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बातचीत की है। कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से नाराज चल रहे हैं। ऐसे में वो भाजपा गठबंधन से बाहर निकलकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ वाले महागठबंधन में शामिल हो सकते हैं और प्रदेश में नई सरकार का गठन कर सकते हैं। हालांकि ऐसा शुरू से ही कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार भाजपा के साथ अपना गठबंधन इतनी जल्दी समाप्त नहीं करेंगे।

इसे भी पढ़ें: नाराज नीतीश को मनाने अमित शाह ने किया फोन! क्या इस फॉर्मूले से बच जाएगी बीजेपी-JDU की सरकार 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमित शाह के साथ नीतीश कुमार की फोन पर बातचीत हुई है। ऐसे में माना जा रहा है कि दोनों पार्टियों के बीच जो भी मतभेद रहे होंगे, जो समाप्त हो सकते हैं।

विपक्ष साथ देने को है तैयार

राजनीतिक संकट के बीच विपक्षी पार्टियां नीतीश कुमार का भाजपा छोड़ने पर साथ देने के लिए तैयार हैं। कांग्रेस और वामदलों ने संकेत दिया कि अगर ऐसा होता है तो वे इसका समर्थन करेंगे। इसके अलावा लालू प्रसाद यादव नीत राजद के विधायक दल की बैठक मंगलवार को होगी। पहले यह बैठक सोमवार को ही होनी थी लेकिन फिर टल गई। राजनीतिक गलियारों में चल रही अटकलों के बीच सूत्रों के हवाले से खबर सामने आई कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी और नीतीश कुमार की फोन पर बातचीत हुई है।

इस विषय पर समाचार एजेंसी एएनआई ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष मदन मोहन झा से बात की तो उन्होंने कहा कि हम मौजूदा घटनाक्रम को लेकर चर्चा करेंगे। हमें अभी तक नीतीश कुमार के सोनिया गांधी के साथ बात करने की आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है, लेकिन हम इसका खंडन नहीं करते हैं।

इसे भी पढ़ें: बिहार में कौन सी खिचड़ी पक रही ? सोनिया-नीतीश की बातचीत का खंडन करने से कांग्रेस नेता का इनकार 

हाल ही में जदयू ने पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए नोटिस जारी किया था। जिसेके बाद आरसीपी सिंह ने पार्टी छोड़ दी। जिसके बाद पार्टी में पनपे मौजूदा हालातों पर चर्चा के लिए मंगलवार को पार्टी विधायकों और सांसदों की बैठक बुलाई है। इस बैठक से पहले जदयू ने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में जो भी फैसला लिया जाएगा, वह पूरे संगठन को स्वीकार्य होगा।

अन्य न्यूज़