थैलियम से नहीं बल्कि इस पदार्थ से अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को मारना चाहता था आरोपी अरोड़ा

Death
अनुराग गुप्ता । Mar 27, 2021 12:22PM
प्राप्त जानकारी के मुताबिक वरुण अरोड़ा ने खुद भी थैलियम की थोड़ी मात्रा ली थी ताकि किसी को शक न हो कि उसने अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को मारने का प्रयास किया है।

नयी दिल्ली। अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को जहर देने वाले आरोप वरुण अरोड़ा ने थैलियम जहर देकर नहीं बल्कि किसी और तरीके से इन लोगों को मारने की योजना बनाई थी। लेकिन फंसने के डर से वरुण योजना का क्रियान्वयन नहीं कर पाया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक वरुण अरोड़ा ने खुद भी थैलियम की थोड़ी मात्रा ली थी ताकि किसी को शक न हो कि उसने अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को मारने का प्रयास किया है। 

इसे भी पढ़ें: निकिता तोमर हत्याकांड में तोसेफ और रेहान को मिली उम्रकैद की सजा 

क्या थी वरुण अरोड़ा की योजना

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वरुण अरोड़ा अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को लेड और मर्करी देकर मारना चाहता था और उसने इसके लिए योजना भी तैयार की थी लेकिन वरुण को डर था कि वह फंस जाएगा इसलिए उसने इस योजना को छोड़ दिया। पश्चिमी दिल्ली पुलिस के अधिकारी से प्राप्त जानकारी के आधार पर एक हिन्दी समाचार पत्र ने आरोपी वरुण अरोड़ा की योजना का खुलासा किया।

रिपोर्ट के मुताबिक फंसने के डर से आरोपी वरुण अरोड़ा ने अपनी योजना को बदलते हुए अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को थैलियम देने का काम शुरू किया। 

डार्क नेट से खरीदा गया थैलियम !

पुलिस अधिकारियों का मानना है कि आरोपी वरुण अरोड़ा ने थैलियम डार्क नेट के माध्यम से मंगवाया था। फिलहाल पुलिस थैलियम पहुंचाने वाले की तलाश कर रही है। उन्हें इससे संबंधित कुछ सुराग भी मिले हैं। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी वरुण अरोड़ा की सांस और साली की मौत हो गई है। जबकि पत्नी और ससुर की हालत गंभीर बताई जा रही है। 

इसे भी पढ़ें: गीता-बबिता फोगाट की कजिन बहन पहलवान रितिका ने हरियाणा में की आत्महत्या 

आरोपी 24 मार्च को हुआ गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपी को 24 मार्च को गिरफ्तार किया था। ससुराल पक्ष से मिली जानकारी के आधार पर जब पुलिसकर्मियों ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो सच भी सामने आ गया। आरोपी ने बताया कि उसकी पत्नी गर्भ से थी और डॉक्टर ने डिलिवरी की जो तारीख बताई थी, उसी दिन उसके पिता का जन्म हुआ था, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं। आरोपी का मानना था कि बेटे के रूप में पिता वापस आने वाले हैं लेकिन डॉक्टरों डिलवरी के समय पत्नी के हालत गंभीर होने की संभावना जताई थी। जिसकी वजह से पत्नी ने गर्भपात करा लिया था। आरोपी इस बात से बहुत ज्यादा खफा था। जिसके चलते उसने अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों को मारने की योजना तैयार की।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़