सबरीमला में तनाव बढ़ाने के लिये भाजपा और आरएसएस ने भेजे अपने कार्यकर्ता: माकपा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2018   20:08
सबरीमला में तनाव बढ़ाने के लिये भाजपा और आरएसएस ने भेजे अपने कार्यकर्ता: माकपा

माकपा ने आरोप लगाया कि परिपत्र में कार्यकर्ताओं को अपने साथ जरूरी सामान भी लाने का निर्देश दिया गया है। पार्टी ने राज्य में कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति के लिहाज से इसे बेहद गंभीर मामला बताया है।

नयी दिल्ली। माकपा ने बुधवार को केरल के सबरीमला मंदिर में सभी आयुवर्ग की महिलाओं के प्रवेश की छूट के विरोध में जारी प्रदर्शन के लिये भाजपा और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराते हुये ‘भगवा ब्रिगेड’ पर सबरीमला में तनाव फैलाने के लिये अपने कार्यकर्ताओं को भेजने का आरोप लगाया है। माकपा पोलित ब्यूरो द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि भाजपा आरएसएस कार्यकर्ताओं का मकसद सबरीमला मंदिर परिसर पर अपना नियंत्रण कर उस क्षेत्र में कानून व्यवस्था की समस्या पैदा करना है।

पार्टी ने आरोप लगाया कि भाजपा की कन्नूर जिला समिति ने 14 नवंबर को पार्टी कार्यकर्ताओं के नाम एक परिपत्र जारी कर 200 प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को एकत्र करने के लिये कहा था। इन कार्यकर्ताओं को 13 दिसंबर को एकत्र होकर सबरीमला मंदिर का घेराव करने को कहा गया है। 

माकपा ने आरोप लगाया कि परिपत्र में कार्यकर्ताओं को अपने साथ जरूरी सामान भी लाने का निर्देश दिया गया है। पार्टी ने राज्य में कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति के लिहाज से इसे बेहद गंभीर मामला बताया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।