भाजपा ने गोवा में अपनी दूसरी सूची की घोषणा की, श्रीपद नाइक के बेटे को टिकट नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 26, 2022   17:25
भाजपा ने गोवा में अपनी दूसरी सूची की घोषणा की, श्रीपद नाइक के बेटे को टिकट नहीं

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 14 फरवरी को होने वाले गोवा विधानसभा चुनाव के लिए अपने छह उम्मीदवारों की दूसरी और अंतिम सूची की बुधवार को घोषणा की। सूची में विधानसभा अध्यक्ष राजेश पाटनेकर का भी नाम है जो अपने मौजूदा निर्वाचन क्षेत्र बिचोलिम से चुनाव लड़ेंगे।

पणजी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 14 फरवरी को होने वाले गोवा विधानसभा चुनाव के लिए अपने छह उम्मीदवारों की दूसरी और अंतिम सूची की बुधवार को घोषणा की। सूची में विधानसभा अध्यक्ष राजेश पाटनेकर का भी नाम है जो अपने मौजूदा निर्वाचन क्षेत्र बिचोलिम से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि, केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक के बेटे सिद्धेश नाइक को सूची में जगह नहीं मिली। सिद्धेश कुम्भरजुआ से कथित तौर पर टिकट मांग रहे थे। राज्य के पूर्व मंत्री और मौजूदा विधायक पांडुरंग मडकाइकर की पत्नी जैनिता कुम्भरजुआ सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी। इसी तरह पार्टी ने 34 उम्मीदवारों की पहली सूची में पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल का नाम शामिल नहीं किया था।

इसे भी पढ़ें: कोविशील्ड, कोवैक्सीन की प्रत्येक खुराक की कीमत 275 रुपये तक सीमित रखने की संभावना

उत्पल पर्रिकर ने बाद में भाजपा छोड़ दी और घोषणा की कि वह पणजी से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। दूसरी सूची में एंटोनियो फर्नांडीस का भी नाम शामिल है, जो अपनी वर्तमान सेंट क्रूज सीट से चुनाव लड़ेंगे। वहीं, मंगलवार को भाजपा में शामिल हुए जोसेफ सिकेरा को कलंगुट से मैदान में उतारा गया है।

इसे भी पढ़ें: प्रथम श्रेणी क्रिकेट की कमी से खिलाड़ियों का कौशल प्रभावित हो रहा है: जयदेव उनादकट

एंटोनियो बारबोसा कर्टोरिम से चुनाव लड़ेंगे जबकि नारायण नाइक कोरटालिम से उम्मीदवार होंगे। कोरटालिम से भाजपा की मौजूदा विधायक अलीना सलदान्हा ने हाल में पार्टी छोड़ दी और आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल हो गईं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।