Uttar Pradesh की हारी हुई सीटों पर भाजपा की नजर, अमित शाह और जेपी नड्डा करेंगे ताबड़तोड़ रैली

Amit Shah and JP Nadda
ANI
अंकित सिंह । Jan 19, 2023 12:55PM
जानकारी के मुताबिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आने वाले दिनों में गाजीपुर में सेना के जवानों के साथ एक संवाद कार्यक्रम आयोजित करेंगे। वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता और चुनावी रणनीतिकार अमित शाह पश्चिम उत्तर प्रदेश को लेकर एक संगठनात्मक बैठक करेंगे।

2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ भाजपा ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं से राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कहा था कि चुनाव में 400 दिनों का वक्त बचा है, इसलिए हमें तैयारियों में जुट जाना चाहिए। दिल्ली की सत्ता के लिए उत्तर प्रदेश काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। उत्तर प्रदेश में भाजपा एक बार फिर से अपनी तैयारियों को मजबूत करने पर काम कर रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता उत्तर प्रदेश को लेकर लगातार रणनीति बना रहे हैं। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने कार्यकर्ताओं से 2019 के आम चुनाव में हारी गई 15 लोकसभा सीटों पर राजनीतिक गतिविधियों में तेजी लाने को कहा है। हालांकि, इन 15 सीटों में से भाजपा ने उपचुनाव में आजमगढ़ और रामपुर में बाजी मार ली थी। 

जानकारी के मुताबिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आने वाले दिनों में गाजीपुर में सेना के जवानों के साथ एक संवाद कार्यक्रम आयोजित करेंगे। वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता और चुनावी रणनीतिकार अमित शाह पश्चिम उत्तर प्रदेश को लेकर एक संगठनात्मक बैठक करेंगे। साथ ही साथ सहारनपुर में एक रैली को संबोधित भी करेंगे। माना जा रहा है कि इस रैली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी सहित कई वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। अमित शाह दो रैलियों को संबोधित कर सकते हैं। पार्टी की ओर से कुछ वरिष्ठ मंत्रियों को भी पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लगाया जाएगा। पार्टी के वरिष्ठ नेता लगातार संगठनात्मक बैठक करने के बाद जन सभाओं को भी संबोधित करेंगे। 

उत्तर प्रदेश में गाजीपुर और सहारनपुर का चयन भाजपा की ओर से किया गया है। दोनों ही जगह भाजपा 2019 के चुनाव में हार गई थी। गाजीपुर में केंद्रीय मंत्री रहते हुए मनोज सिन्हा को हार का सामना करना पड़ा था। मनोज सिन्हा को बसपा उम्मीदवार अफजल अंसारी ने हराया था। अफजल अंसारी जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई हैं। 2022 के विधानसभा चुनाव में भी गाजीपुर में भाजपा को सफलता नहीं मिली थी और वहां की सातों सीटों पर हार का सामना करना पड़ा था। यही कारण है कि गाजीपुर को लेकर भाजपा की ओर से खास रणनीति बनाई जा रही है। वहीं, सहारनपुर में भी भाजपा को सभी 7 विधानसभा सीटों पर सपा से कड़ी टक्कर मिली थी। सूत्रों का दावा है कि 2024 के चुनाव को लेकर भी भाजपा कैराना पर फोकस करेगी। 

अन्य न्यूज़