महाराष्ट्र में मंदिरों को फिर से खोलने के लिए BJP का ‘घंटा नाद’ आंदोलन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2020   15:22
महाराष्ट्र में मंदिरों को  फिर से खोलने के लिए BJP का ‘घंटा नाद’ आंदोलन

कोविड-19 महामारी के मद्देनजर प्रदेश में धार्मिक स्थल बंद हैं। ठाणे और पालघर जिलों के सभी शहरों में भाजपा विधायकों, पार्षदों और पार्टी पदाधिकारियों के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया तथा इस दौरान मंदिरों के बाहर ‘घंटा नाद’ किया गया।

ठाणे। महाराष्ट्र के ठाणे और पालघर जिलों तथा पुणे शहर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने मंदिरों को फिर से खोलने की मांग को लेकर शनिवार को प्रदर्शन किया। कोविड-19 महामारी के मद्देनजर प्रदेश में धार्मिक स्थल बंद हैं। ठाणे और पालघर जिलों के सभी शहरों में भाजपा विधायकों, पार्षदों और पार्टी पदाधिकारियों के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया तथा इस दौरान मंदिरों के बाहर ‘घंटा नाद’ किया गया और थालियां भी बजाई गईं।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र में कोरोना के 14,361 नए मामले, 331 लोगों की मौत

प्रदर्शन का नेतृत्व करने वालों में भाजपा विधायक संजय केलकर, रविंद्र चव्हाण, गनपत गायकवाड़, ठाणे शहर के भाजपा अध्यक्ष और विधान परिषद सदस्य निरंजन देवखरे शामिल थे। इस बीच, पुणे शहर के सरस बाग में ऐसे ही एक प्रदर्शन का आयोजन किया गया जिसका नेतृत्व पुणे के महापौर मुरलीधर मोहोल, विधायक माधुरी मिसल और पार्टी के शहर अध्यक्ष जगदीश मलिक ने किया। पार्टी के स्थानीय नेताओं ने प्रदेश सरकार से धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत मांगी क्योंकि स्थानीय परिवहन और मॉल को चालू कर दिया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।