कांग्रेस संकट पर भाजपा का तंज, शहजाद पूनावाला बोले- गुस्ताख-ए-गांधी की एक ही सजा, गहलोत अध्‍यक्ष से जुदा

Shehzad Poonawalla
ANI
अंकित सिंह । Sep 29, 2022 3:44PM
माना जा रहा था कि अशोक गहलोत अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। उन्हें गांधी परिवार का समर्थन हासिल है। लेकिन राजस्थान में जो कुछ भी हुआ उससे गहलोत के लिए परिस्थितियां बदल गई। यही कारण है कि अब वह अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। वहीं भाजपा ने इस को लेकर जबरदस्त तरीके से तंज कसा है।

कांग्रेस में इस वक्त जबरदस्त उठापटक की स्थिति देखने को मिल रही है। कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होने वाले हैं। लेकिन राजस्थान में संकट बरकरार है। यही कारण है कि सोनिया गांधी लगातार वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर रही हैं। आज सोनिया गांधी की मुलाकात अशोक गहलोत से हुई। अशोक गहलोत ने मुलाकात के बाद साफ तौर पर कहा कि वह अब अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे। इससे पहले माना जा रहा था कि अशोक गहलोत अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। उन्हें गांधी परिवार का समर्थन हासिल है। लेकिन राजस्थान में जो कुछ भी हुआ उससे गहलोत के लिए परिस्थितियां बदल गई। यही कारण है कि अब वह अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। वहीं भाजपा ने इस को लेकर जबरदस्त तरीके से तंज कसा है।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में एंट्री से पहले ही फटे राहुल गांधी के पोस्टर, कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी पर लगाया आरोप

भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने ट्वीट कर तंज करते हुए लिखा कि गुस्ताख-ए-गांधी की एक ही सजा, गहलोत अध्‍यक्ष से जुड़ा! अपने ट्वीट के साथ उन्होंने शशि थरूर और दिग्विजय सिंह की मुलाकात की एक तस्वीर भी लगाई है और लिखा है कि गांधी परिवार अगले कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में रबर स्टैंप की तलाश में थे.. स्पष्ट रूप से गहलोत लायक नहीं थे.. इसलिए वे चले गए! अब तक की खबर के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में अध्यक्ष दिग्विजय सिंह और शशि थरूर हैं। इसका मतलब साफ है कि दोनों नेताओं के बीच में अध्यक्ष पद को लेकर मुकाबला रहने वाला है। दिग्विजय सिंह को गांधी परिवार का समर्थन हासिल है। वह गांधी परिवार के बेहद करीबी भी बताए जाते हैं। आज उन्होंने नामांकन फॉर्म में ले लिया है और कहा है कि कल वह नामांकन दाखिल करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले गहलोत, मैं कांग्रेस का वफादार सिपाही, अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लडूंगा

दूसरी ओर दिग्विजय सिंह ने सांसद और अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ रहे शशि थरूर से मुलाकात की है। इस मुलाकात की तस्वीर ट्वीट करते हुए शशि थरूर ने लिखा कि मैं कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए उनकी उम्मीदवारी का स्वागत करता हूं। हम दोनों इस बात पर सहमत हैं कि हमारी लड़ाई प्रतिद्वंदी नहीं हैं, बल्कि सहयोगी के बीच एक दोस्ताना मुकाबला है। हम केवल यह चाहते हैं कि जो भी जीतेगा, वह कांग्रेस की जीत होगी। आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 30 सितंबर है। एक से अधिक उम्मीदवार होने की स्थिति में 17 अक्टूबर को चुनाव कराए जाएंगे। 19 अक्टूबर को नतीजे आएंगे। 

अन्य न्यूज़