मनीष सिसोदिया का भाजपा पर आरोप, बोले- मेरी सरकारी गाड़ी के साथ की तोड़फोड़, पढ़ने लिखने से इन्हें चिढ़ क्यों है ?

Manish Sisodia
उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि आज रोहतास नगर में स्कूल बनने का विरोध करते हुए भाजपा नेताओं व गुंडों ने स्कूल में तोड़फोड़ की।

नयी दिल्ली। दिल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भाजपा पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि रोहतास नगर में स्कूल बनने का विरोध करते हुए भाजपा नेताओं व गुंडों ने स्कूल में तोड़फोड़ की। मेरी सरकारी गाड़ी को तोड़ा। दरअसल, दिल्ली सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ मनीष सिसोदिया मंगलवार को स्कूल के निर्माण कार्य का निरीक्षण करने गए। जहां पर उनकी गाड़ी के साथ तोड़फोड़ हुई। 

इसे भी पढ़ें: ऑक्सीजन मामले में सामने आया दिल्ली सरकार का पक्ष, भाजपा को रिपोर्ट लाने की दी चुनौती 

मनीष सिसोदिया ने कहा कि आज रोहतास नगर में स्कूल बनने का विरोध करते हुए भाजपा नेताओं व गुंडों ने स्कूल में तोड़फोड़ की। मेरी सरकारी गाड़ी को तोड़ा, स्कूल का गेट तोड़कर अंदर मौजूद महिला शिक्षकों, इंजीनियर्स और मज़दूरों के साथ बदतमीज़ी की। भाजपाइयों को स्कूल बनने, पढ़ने लिखने से इतनी चिढ़ क्यों है ?

उन्होंने ट्वीट कर बताया कि बाबरपुर, करावल नगर, रोहतास नगर और गोकलपुर में नए स्कूल भवनों का निर्माण पूरे जोरशोर से चल रहा है। आज सत्येंद्र जैन जी के साथ इन स्कूलों के निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया।

वहीं, सत्येंद जैन ने भी भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि हमें रोकने के लिए चाहे कितने भी हाथ-पैर मार ले, लेकिन हम रुकने वाले नहीं। भाजपा ऐसे चाहे हज़ार हमले करवा ले, हमें डरा नहीं सकती। हमने दिल्ली के लोगों की सेवा करने की कसम खाई है और इससे हमें कोई रोक नहीं सकता।  

इसे भी पढ़ें: ‘होम डिलीवरी’ शब्द ने खड़ा किया किया नया विवाद, दिल्ली सरकार को भाजपा ने घेरा 

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार और भाजपा के बीच काफी समय से आरोप प्रत्यारोप का सियासी दौर जारी है। हाल ही में ऑक्सीजन की जरूरत को लेकर एक कथित रिपोर्ट का हवाला देते हुए भाजपा ने दिल्ली सरकार पर जमकर हमला बोला था। जिसका जवाब देते हुए मनीष सिसोदिया ने भाजपा को रिपोर्ट साझा करने की चुनौती दी थी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़