• ऑक्सीजन मामले में सामने आया दिल्ली सरकार का पक्ष, भाजपा को रिपोर्ट लाने की दी चुनौती

ऑक्सीजनदिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन मामले की सुनवाई करते हुए एक ऑक्सीजन ऑडिट कमिटी बनाई थी। हमने कमिटी के सदस्यों से बात की और उन्होंने कहा कि हमने किसी भी रिपोर्ट में दस्तखत नहीं किया है।

नयी दिल्ली। ऑक्सीजन सप्लाई के मामले को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर जमकर हमला बोला। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि एक तथाकथित रिपोर्ट बताई जा रही है कि दिल्ली में जब कोरोना का पीक था तो ऑक्सीजन की कमी नहीं थी और ऑक्सीजन की मांग 4 गुना बढ़ा-चढ़ाकर बताई गई थी। भाजपा के नेता जिस तथाकथित रिपोर्ट के हवाले से अरविंद केजरीवाल को गाली दे रहे हैं, ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: ऑक्सीजन सप्लाई मामले में बोले संबित, केजरीवाल ने किया जघन्य अपराध, कई लोगों की बच सकती थी जान 

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन मामले की सुनवाई करते हुए एक ऑक्सीजन ऑडिट कमिटी बनाई थी। हमने कमिटी के सदस्यों से बात की और उन्होंने कहा कि हमने किसी भी रिपोर्ट में दस्तखत नहीं किया है। उन्होंने बताया कि जब ऑडिट कमिटी के सदस्यों ने किसी रिपोर्ट में दस्तखत किए ही नहीं हैं तो यह रिपोर्ट कहां से आई। इस दौरान मनीष सिसोदिया ने भाजपा को रिपोर्ट लाने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि झूठ और मक्कारी की इंतहा होती है और भाजपा इसके चरम पर पहुंच गई है। 

इसे भी पढ़ें: SC टीम का खुलासा, दिल्ली ने जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन मांगा था, 12 राज्यों को हुआ घाटा 

सिसोदिया ने कहा कि अप्रैल के महीने में दिल्ली में ऑक्सीजन की किल्लत हुई थी। ऑक्सीजन मैनेजमेंट का केंद्र सरकार ने पूरे देश में बंटाधार कर दिया था। डॉक्टर्स और ऑस्पिटल्स ने भी चिल्लाया था लेकिन भाजपा ने जिम्मेदारी लेने की जगह पार्टी मुख्यालय में बैठकर एक ममगढ़ंत रिपोर्ट बनाई। अगर ऐसी कोई रिपोर्ट बनी है तो भाजपा के बड़े नेता इसे साझा करें। 

यहां देखें पूरी प्रेस कॉन्फ्रेंस: