शिवराज के कार्यों और पार्टी की संगठनात्मक ताकत के बल पर जीतेगी भाजपा: सहस्त्रबुद्धे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2018   18:12
शिवराज के कार्यों और पार्टी की संगठनात्मक ताकत के बल पर जीतेगी भाजपा: सहस्त्रबुद्धे

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने 2013 के विधानसभा चुनाव में 165 सीटें जीती थी और कई चुनाव पूर्व सर्वेक्षण में कहा जा रहा है कि इस बार विपक्षी कांग्रेस की ओर से भाजपा को कड़ी टक्कर मिल रही है।

नयी दिल्ली। मध्यप्रदेश में हिन्दू मतदाताओं को लुभाने के कांग्रेस के प्रयासों को तवज्जो नहीं देते हुए भाजपा ने मंगलवार को कहा कि इस तरह के हथकंडों से लोगों को झांसा नहीं दिया जा सकता है, साथ ही जोर दिया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के कार्यो एवं संगठनात्मक मजबूती की बदौलत पार्टी प्रदेश में फिर सत्ता हासिल करेगी। भाजपा उपाध्यक्ष एवं राज्य के प्रभारी विनय सहस्रबुद्धे ने कहा कि 230 सदस्यीय विधानसभा में पार्टी 200 सीट जीतने के लक्ष्य के करीब होगी । 

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने 2013 के विधानसभा चुनाव में 165 सीटें जीती थी और कई चुनाव पूर्व सर्वेक्षण में कहा जा रहा है कि इस बार विपक्षी कांग्रेस की ओर से भाजपा को कड़ी टक्कर मिल रही है। सहस्त्रबुद्धे ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य में हुए विकास कार्य, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का लोगों से जुड़़ाव और पार्टी की संगठनात्मक शक्ति के कारण भाजपा लगातार चौथी बार प्रदेश में जीत दर्ज करेगी। कांग्रेस की ओर से हिन्दू मतदाताओं को लुभाने के प्रयास किये जाने एवं राम वन गमन पथ के निर्माण के वादे आदि के बारे में पूछे जाने पर भाजपा उपाध्यक्ष ने कहा कि यह विपक्षी पार्टी के भीतर के अपराधबोध को दर्शाता है जिसने देश की प्रकृति को इतने वर्षों तक नजरंदाज किया। 

उन्होंने कहा, ‘‘ लोग इनके झांसे में नहीं आयेंगे।’’ भाजपा नेता ने कहा कि अगर कांग्रेस भगवान राम के बारे में गंभीर है तब उसे शुरू से ही अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का समर्थन करना चाहिए था। सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि उनकी पार्टी का मुख्य एजेंडा विकास है और यह कांग्रेस पार्टी है जिसने अपने घोषणापत्र में गाय और आरएसएस का उल्लेख किया है।मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...