बार-बार छापा मारने के बजाय कांग्रेस नेताओं के घर के बाहर सीबीआई और ईडी लगा लें तंबू: अतुल लोंढे

Congress
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव और मुख्य प्रवक्ता अतुल लोंढे ने इस कार्रवाई के बाद मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब जांच एजेंसियों को निर्देश देने के बजाय सीबीआई और ईडी की टीम को कांग्रेस नेताओं के घर के बाहर तंबू लगा कर स्थायी रूप से बैठ जाना चाहिए।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के घर पर एक बार फिर सीबीआई ने छापा मारा है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस नेताओं के घरों पर लगातार छापेमारी हो रही है। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एमपीसीसी) के महासचिव और मुख्य प्रवक्ता अतुल लोंढे ने इस कार्रवाई के बाद मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब जांच एजेंसियों को निर्देश देने के बजाय सीबीआई और ईडी की टीम को कांग्रेस नेताओं के घर के बाहर तंबू लगा कर स्थायी रूप से बैठ जाना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: 'भाजपा को लोकतंत्र पर विश्वास नहीं', गहलोत बोले- उनकी नीतियां देश को बर्बाद करने वाली हैं 

इस संबंध में आगे बोलते हुए अतुल लोंढे ने कहा कि विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए केंद्र सरकार जांच एजेंसियों का भय दिखा कर इस तरह की कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि अब जांच एजेंसियों को भी शायद याद नहीं है कि उन्होंने चिदंबरम के घर पर कितनी बार छापे मारे हैं। यही स्थिति कर्नाटक में प्रदेश अध्यक्ष शिवकुमार की भी है। शिवकुमार और उनके रिश्तेदारों के घरों पर ईडी और आयकर विभाग ने कितनी बार छापे मारे हैं। उसकी गिनती करना भी मुश्किल है। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के आवास, कार्यालयों और रिश्तेदारों के घरों पर विभिन्न केंद्रीय जांच एजेंसियों ने 110 बार से ज्यादा छापेमारी की है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंढे ने तंज कसते हुए कहा कि बार-बार इस तरह की छापेमारी में समय, पैसा और ऊर्जा बर्बाद करने के बजाय अगर जांच एजेंसियां तंबू लगा कर कांग्रेस नेताओं के घर के बाहर बैठ जाएं तो उनका समय बर्बाद नहीं होगा। उन्होंने कहा कि इस तरह की कार्रवाई में आम करदाताओं का पैसा बर्बाद करने के बजाय कांग्रेसी नेता जांच एजेंसियों के खाने-पीने का खर्च भी उठाएगी। 

इसे भी पढ़ें: सीबीआई को कुछ नहीं मिला, लेकिन छापेमारी का समय जरूर दिलचस्प है: पी चिदंबरम 

अतुल लोंढे ने कहा कि केंद्र सरकार के पास सिर्फ विपक्ष के नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने का ही काम रह गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार यह दिखाने की कोशिश कर रही है कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के नेता भ्रष्ट हैं और उनके दल के नेता धुले हुए चावल की तरह साफ हैं। लोंढे ने यह भी कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसिया केंद्र की मोदी सरकार की कठपुतली बन गई है और उनकी आजादी पूरी तरह से खत्म हो गई है लेकिन यह लोकतंत्र के लिए काफी घातक है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़