'भाजपा को लोकतंत्र पर विश्वास नहीं', गहलोत बोले- उनकी नीतियां देश को बर्बाद करने वाली हैं

Ashok Gehlot
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हिंदू-मुसलमान सदियों से साथ रहते आए हैं और सदियों तक साथ रहना है। वह जयपुर के अल्बर्ट हॉल में कांग्रेस सेवादल की आजादी गौरव यात्रा को संबोधित कर रहे थे। गहलोत ने कहा कि भाजपा का लोकतंत्र में कोई विश्वास नहीं है, ये लोग लोकतंत्र का मुखौटा पहनकर राजनीति कर रहे हैं।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए मंगलवार को कहा कि उसकी नीतियां देश को बर्बाद करने वाली हैं। गहलोत ने कहा कि भाजपा वालों का लोकतंत्र में विश्वास नहीं है और ये लोग सिर्फ लोकतंत्र का मुखौटा पहन राजनीति कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पर ज्ञानवापी मस्जिद वाराणसी के मुद्दे पर देश में एक नया तमाशा खड़ा करने का आरोप लगाया और कहा कि हिंदू-मुसलमान सदियों से साथ रहते आए हैं और सदियों तक साथ रहना है। वह जयपुर के अल्बर्ट हॉल में कांग्रेस सेवादल की आजादी गौरव यात्रा को संबोधित कर रहे थे। गहलोत ने कहा कि भाजपा का लोकतंत्र में कोई विश्वास नहीं है, ये लोग लोकतंत्र का मुखौटा पहनकर राजनीति कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: सचिन पायलट के फॉर्मूले पर लगी मुहर, राजस्थान में युवाओं को प्रतिनिधित्व देने वाले प्रस्ताव पर शुरू हुआ काम, राहुल का जताया आभार 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘लोकतंत्र कहां है? सीबीआई, इनकम टैक्स, ईडी का दुरुपयोग हो रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इन (भाजपा) की जो नीतियां हैं, कार्यक्रम हैं, सिद्धांत हैं वे देश को बर्बाद करने वाले हैं, देश में हिंसा फैलाने वाले हैं, देश में तनाव पैदा करने वाले हैं, भाई-भाई को लड़वाने वाले हैं, रात-दिन का फर्क है इनकी विचारधारा में, इनकी सोच के अंदर, जो आप देख रहे हो, क्या तमाशे हो रहे हैं देश में।’’ वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे के मामले में उन्होंने कहा, ‘‘अब एक नया तमाशा शुरू कर देंगे वहां पर वाराणसी में, आप देख रहे हो कल से टीवी में, सोशल मीडिया में भी शुरू हो रहा है। कोई 100 जगह पर ऐसे स्थान होंगे जहां पर ये विवाद पैदा करते रहते हैं, तो कब तक आप हिंदू-मुस्लिम को लड़वाते रहोगे देश में? जो सदियों से रहते आए हैं साथ में और सदियों तक साथ रहना है सबको, सदियों तक साथ रहना है।’’

गहलोत ने कहा, ‘‘हमें अपनी बात कहने में हिचक नहीं होनी चाहिए। चिंता न करें, अगर हमने बात नहीं की, तो इतिहास हमें भी माफ नहीं करेगा। आज हम अपनी विचारधारा पर अटल रहेंगे, तो इतिहास में कम से कम ये तो लिखा जाएगा कि भई कांग्रेस के लोगों ने कमी नहीं रखी, सर्वधर्म समभाव को, लोकतंत्र को, समाजवाद को जिंदा रखने के लिए।’’ वहीं गहलोत ने बाद में एक ट्वीट कर कहा, ‘‘भारत में हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध, पारसी समेत तमाम धर्मों के लोग एक साथ सदियों से रहते आए हैं और आगे भी सदियों तक रहेंगे। इसलिए नवसंकल्प शिविर से भी ‘भारत जोड़ो’ का संदेश दिया गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: राहुल ने किया 132 करोड़ के पुल का शिलान्यास, कहा- बीजेपी आदिवासियों को मिटाने का कर रही काम 

उन्होंने लिखा है, ‘‘जो लोग इनके बीच झगड़ा लगाकर देश पर राज करना चाहते हैं, उनकी सच्चाई देश जान चुका है। इससे देश कमजोर होता है। ये तमाशा अब ज्यादा नहीं चलेगा। समय आने पर देश इनको जवाब देगा।’’ इसके साथ ही गहलोत ने एक बार फिर कहा कि गृहमंत्री अमित शाह, केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान व गजेन्द्र सिंह शेखावत ने लगभग दो साल पहले उनकी चुनी हुई सरकार को गिराने का षडयंत्र किया था। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार गिराने का षड्यंत्र कोई मामूली नहीं था वो, अमित शाह जी का, धर्मेंद्र प्रधान जी का और वो जोधपुर वाले शेखावत साहब का।’’ उन्होंने कहा कि शेखावत को अब भी इस बारे में दर्ज एक मामले में अपना वायस सैंपल नहीं दे रहे हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़