लालू के 17 ठिकानों पर CBI छापा, रेल मंत्री रहते लगे थे भ्रष्‍टाचार के आरोप, RJD समर्थकों का हंगामा

lalu yadav
ANI
अंकित सिंह । May 20, 2022 11:00AM
सीबीआई की इस कार्रवाई पर आरजेडी ने हंगामा करना शुरू कर दिया है। आरजेडी कार्यकर्ताओं ने इसके विरोध में धरने पर बैठ गए हैं। वे लगातार केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। सीबीआई की इस कार्रवाई को लेकर राजद विधायक मुकेश रोशन ने बड़ा बयान दिया है।

भले ही राजद सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को चारा घोटाला मामले में राहत मिल गई हो। लेकिन अभी भी उनकी मुश्किलें कम होती दिखाई नहीं दे रही है। दरअसल, आज सुबह सवेरे केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो की ओर से लालू यादव और उनके परिवार से जुड़े 17 ठिकानों पर छापेमारी की गई। सीबीआई ने लालू यादव और उनकी बेटी मीसा भारती के खिलाफ रेलवे में नौकरियों के बदले उम्मीदवारों से जमीन लेने के आरोप में एक नया मामला दर्ज किया है। सीबीआई की ओर से छापेमारी दिल्ली के साथ-साथ पटना और गोपालगंज में कई स्थानों पर की गई है। बताया जा रहा है कि एक कथित घोटाला उस समय की है जब मनमोहन सिंह की सरकार में लालू यादव देश के रेल मंत्री थे। इसके अलावा सीबीआई की टीम पूर्व मुख्यमंत्री और लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी के आवास पर पहुंची थी। 

इसे भी पढ़ें: ज्ञानवापी के सवाल पर नीतीश ने साधी चुप्पी, आरसीपी सिंह वाली राज्यसभा सीट को लेकर कही ये बात

राजद का हंगामा

दूसरी ओर सीबीआई की इस कार्रवाई पर आरजेडी ने हंगामा करना शुरू कर दिया है। आरजेडी कार्यकर्ताओं ने इसके विरोध में धरने पर बैठ गए हैं। वे लगातार केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। सीबीआई की इस कार्रवाई को लेकर राजद विधायक मुकेश रोशन ने बड़ा बयान दिया है। मुकेश रोशन ने दावा किया है कि जिस तरीके से नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच दूरियां कम हुई है, उसकी वजह से बीजेपी परेशान है। यही कारण है कि बीजेपी के इशारे पर सीबीआई की ओर से लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ यह छापेमारी की जा रही है। राजद नेता आलोक मेहता ने कहा कि यह एक मजबूत आवाज को दबाने की कोशिश है। सीबीआई की कार्रवाई पूरी तरह से पक्षपाती है। लालू यादव के भाई प्रभुनाथ यादव ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक बीमार व्यक्ति को जानबूझकर इस तरह परेशान किया जा रहा है। यह सर्वविदित है कि इसके पीछे कौन है। 

इसे भी पढ़ें: बिहार के इन सांसदों का समाप्त हो रहा कार्यकाल, क्या आरसीपी सिंह को फिर राज्यसभा नहीं भेजेंगे नीतीश? गंवाना पड़ सकता है मंत्री पद

रोहिणी आचार्य भड़की

सीबीआई छापे के बाद लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य भड़क गई हैं। उन्होंने लगातार कई ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा कि पगला बिल्ला सियार खम्भा नोचे। छापेमारी तो बहाना है, जातीय जनगणना के मुद्दे पर लालू जी को डराना है। कई ट्वीट में उन्होंने लिखा कि लालू जी को डराने को फिर से तोते को बुलाया है। एक बार फिर से छापामारी का हथकंडा अपनाया है। रेलवे में हजारों-करोड़ों का मुनाफा देकर देश-दुनिया में जिसने नाम कमाया। आज देश बेचने वालों की टोली ने, सत्ता का दुरुपयोग कर उन्हीं पर छापा मरवाया। उन्होंने लिखा कि ऐ तोता कभी सोचा है एक मात्र रेल्वे मिनिस्टर लालू जी ही थे जो रेल्वे को हज़ारों करोड़ों का मुनाफ़ा दिए और देश विदेश में उनको मैनज्मेंट गुरु माना फिर क्या हुआ जो ना उनके पहले और ना ही बाद में किसी ने रेल्वे को मुनाफ़ा दिया…आख़िर ऐसा क्यूँ क्या ये जाँच का विषय नही है?

इसे भी पढ़ें: जातिगत जनगणना को लेकर सियासत तेज, जल्द होगी सर्वदलीय बैठक, RJD नेता तेजस्वी यादव ने दिया यह बयान

मांझी का निशाना

सीबीआई के यहां छापेमारी ऐसे समय में हो रही है जब तेजस्वी यादव लंदन गए हुए हैं। लालू यादव दिल्ली में इलाज करवा रहे हैं। अब इसी को लेकर खूब राजनीति भी हो रही है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए लिखा कि घर का भेदी लंका ढाए, मौका देख बाहर उड़ जाए। हम पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने सीबीआई की छापेमारी पर सवाल उठाते हुए तेजस्वी यादव को ही इसका साजिशकर्ता बता दिया। दानिश रिजवान ने दावा किया कि आरजेडी की अगली अध्यक्ष मिसा भारती बनने जा रही है और उनसे किसको परेशानी है, यह सभी जानते हैं। अब सवाल यही है कि आखिर किसने साजिश रची है और राजद को इसका जवाब देना होगा। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़