जातिगत जनगणना को लेकर सियासत तेज, जल्द होगी सर्वदलीय बैठक, RJD नेता तेजस्वी यादव ने दिया यह बयान

Tejashwi Yadav
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि हमको लगता है कि इस महीने के अंत तक या अगले महीने के पहले हफ्ते तक ये बैठक हो जानी चाहिए। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि राज्य स्तरीय जाति आधारित जनगणना पर काम शुरू होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। उन्होंने कहा था कि ज्यादा देर नहीं लगेगा...

पटना। बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर सियासत एक बार फिर से तेज हो गई है। केंद्र की भाजपा सरकार इस जनगणना के पक्ष में नहीं है, लेकिन भाजपा के समर्थन से ही चल रही नीतीश सरकार जल्द से जल्द जातिगत जनगणना कराना चाहिए है और इस मुद्दे पर उन्हें विपक्षी नेता तेजस्वी यादव का भी साथ मिला है। हाल ही में दोनों नेताओं ने बंद कमरे में बैठक भी की थी। जिसको लेकर चिराग पासवान ने कटाक्ष भी किया था। 

इसे भी पढ़ें: जब 11 साल के बच्चे ने CM नीतीश से लगाई गुहार- सर सुनिए ना, हमको पढ़ना है... पिता पीते हैं शराब 

इसी बीच राजद नेता तेजस्वी यादव का एक बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने जातिगत जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक की बात की। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि हमको लगता है कि इस महीने के अंत तक या अगले महीने के पहले हफ्ते तक ये बैठक हो जानी चाहिए।

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि राज्य स्तरीय जाति आधारित जनगणना पर काम शुरू होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। उन्होंने कहा था कि ज्यादा देर नहीं लगेगा...हम एक सर्वदलीय बैठक बुलाएंगे जहां प्रतिनिधि अपने सुझाव दे सकते हैं। इसके बाद मंत्रिमंडल की मंजूरी मिलेगी। कितने अधिकारियों को तैनात करना है, जैसे तौर-तरीकों पर भी काम किया जाएगा। इस विषय पर नीतीश कुमार की तेजस्वी यादव से भी बात हुई है।

चिराग ने साधा था निशाना

तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार की मुलाकात को लेकर चिराग पासवान ने निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि बिहार में जातिगत जनगणना के लिए बंद कमरे में कौन सी बात हो रही है या नीतीश कुमार अपनी सहयोगी भाजपा से एक फिर अलग होकर सत्ता में बने रहने के तरीकों पर चर्चा कर रहे हैं ? 

इसे भी पढ़ें: बिहार में बड़ा खेल हो गया! नितिन के कार्यक्रम से नीतीश आउट, राजद को मिला निमंत्रण 

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के पटना स्थित आवास पर आय़ोजित इफ्तार पार्टी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत कई नेता शामिल हुए थे। इस दौरान एक तस्वीर ने सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी थीं। जिसमें नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव और तेज प्रताप दिखाई दे रहे थे। इस तस्वीर के माध्यम से बिहार की राजनीति में बदलाव के संकेत दिए जा रहे थे। हालांकि तेजस्वी यादव ने इसे महज एक कार्यक्रम बताया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़