चक्क आगासौद बीना रिफायनरी में 5 मई से शुरू होगा 100 बिस्तर का अस्थाई अस्पताल

चक्क आगासौद बीना रिफायनरी में 5 मई से शुरू होगा 100 बिस्तर का अस्थाई अस्पताल

मंत्री सिंह ने बीना रिफायनरी के इंड्रस्ट्रियल ऑक्सीजन निर्माण के प्लांट का भी जायजा लिया। उन्होंने बताया कि बीओआरएल की इंड्रस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित कर संक्रमित मरीजों के उपचार के लिये उपयोग में लाया जाएगा।

भोपाल। मध्य प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने ग्राम चक्क आगासौद (बीना रिफायनरी) में बनने वाले एक हजार बिस्तर के अस्थाई अस्पताल का स्थल निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 5 मई से अस्थायी कोविड-19 हास्पिटल शुरू कर दिया जाये। मंत्री सिंह ने बीना रिफायनरी के इंड्रस्ट्रियल ऑक्सीजन निर्माण के प्लांट का भी जायजा लिया। उन्होंने बताया कि बीओआरएल की इंड्रस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित कर संक्रमित मरीजों के उपचार के लिये उपयोग में लाया जाएगा। 

 

इसे भी पढ़ें: रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगायें : मुख्यमंत्री चौहान

मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बैठक में अस्थाई कोविड अस्पताल के निर्माण कार्य एवं व्यवस्थाओं पर भी चर्चा की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, पीडब्ल्यूडी, एमपीईबी, पीआईयू के अधिकारियों को निर्देश दिये कि सक्रियता से इस दिशा में कार्य करें, जिससे समय-सीमा में ऑक्सीजन सप्लाई सहित समस्त व्यवस्थाओं को धरातल पर लाया जा सके।नगरीय विकास एवं आवास मंत्री सिंह ने बताया कि अस्थाई अस्पताल में इंदौर के अरविंदो मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की मदद से उपचार किया जाएगा। आवश्यकता पड़ने पर अन्य जगह के डॉक्टरों को भी यहाँ तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, अस्पताल के लिए एम्बुलेंस, पैरामेडिकल स्टॉफ, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की भी आवश्यकता अनुसार उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है। अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट से पाइप लाइन के माध्यम से मरीजों को आक्सीजन उपलब्ध कराई जायेगी।

 

इसे भी पढ़ें: विजयवर्गीय ने दो करोड़ संक्रमितों का अपमान किया, घुटना टेककर देश से क्षमायाचना करें -भूपेन्द्र गुप्ता

मंत्री सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सख्त निर्देश हैं कि अस्थाई अस्पताल को शीघ्र प्रारंभ किया जाए। उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को लगभग डेढ़ किलोमीटर की एप्रोच रोड बनाने, एमपीईबी के अधिकारियों को विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने सब स्टेशन का प्रपोजल बनाकर कार्य शुरू करने एवं पेयजल सप्लाई सुचारू रूप से करने के लिये संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। मंत्री ने बताया कि, अस्पताल में पोषणयुक्त भोजन अक्षय फाउंडेशन द्वारा दिया जाएगा। इस दौरान मंत्री ने अस्थाई अस्पताल में कम्युनिकेशन सिस्टम को सुचारु रूप से चलाने के निर्देश बीएसएनएल प्रबंधक को दिये। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।