छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल नेकहा- असम में गौ गिरोह पर अपना रुख स्पष्ट करें पीएम

Chhattisgarh
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असम पहुंचने से महज कुछ घंटे पहले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को उनसे असम में कथित रूप से सक्रिय गौ गिरोह (काऊ सिडिकेट) पर रुख स्पष्ट करने की मांग की।

गुवाहाटी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असम पहुंचने से महज कुछ घंटे पहले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को उनसे असम में कथित रूप से सक्रिय गौ गिरोह (काऊ सिडिकेट) पर रुख स्पष्ट करने की मांग की। असम में विधानसभा चुनाव से पहले अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (एआईसीसी) द्वारा राज्य इकाई के पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए बघेल ने यह भी आरोप लगाया कि कई अन्य गिरोहों को भी राज्य सरकार की ओर से संरक्षण दिया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: सीबीआई ने कोयला चोरी मामले में अभिषेक बनर्जी की रिश्तेदार मेनका से की पूछताछ

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ प्रधानमंत्री जी, असम बेसब्री से सोनोवाल सरकार द्वारा गौ गिरोह चलाने पर मेनका गांधी की टिप्पणी पर आपकी प्रतिक्रिया का इंजतार कर रहा है।’’ बघेल ने कहा, ‘‘ खैर, कई और सिंडिकेट हैं जिन्हें असम की भाजपा सरकार से संरक्षण मिल रहा है। यह आपके नारे ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा’ के विपरीत है।’’

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के मंत्री छगन भुजबल कोरोना वायरस से संक्रमित, कई और मंत्री भी चपेट में आये

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने 17 फरवरी को कहा था कि असम में मवेशियों की तस्करी में शामिल गिरोहों के अलावा कोयला, पत्थर, बांस, पान के पत्ते, सुपारी और यहां तक मछली की आपूर्ति में भी मजबूत सिंडिकेट सक्रिय है। बघेल ने कहा कि खबर है कि भाजपा सांसद मेनका गांधी ने गायों के प्रति राज्य सरकार के व्यवहार को लेकर सोनोवाल सरकार को पत्र लिखा है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य में स्थापित तेल एवं गैस क्षेत्र से जुड़ी कुछ परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करने सोमवार को यहां आ रहे हैं। असम में 126 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव मार्च-अप्रैल में होने की उम्मीद है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़