सर गंगा राम अस्पताल में तत्काल ऑक्सीजन पहुंचाने का उपराज्यपाल व मुख्यमंत्री से आग्रह : आदेश गुप्ता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2021   14:33
सर गंगा राम अस्पताल में तत्काल ऑक्सीजन पहुंचाने का उपराज्यपाल व मुख्यमंत्री से आग्रह : आदेश गुप्ता

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सर गंगाराम अस्पताल में ऑक्सीजन की तत्काल आपूर्ति करने का शनिवार को आग्रह किया। उन्होंने कहा कि वहां स्थिति बहुत खराब है और मरीजों की हालत नाजुक है।

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सर गंगाराम अस्पताल में ऑक्सीजन की तत्काल आपूर्ति करने का शनिवार को आग्रह किया। उन्होंने कहा कि वहां स्थिति बहुत खराब है और मरीजों की हालत नाजुक है। ऑक्सीजन के लगातार कम होते स्तर से जूझ रहे अस्पताल को शुक्रवार की रात ऑक्सीजन टैंकर मिला। अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक वहां 500 से अधिक कोविड-19 मरीज भर्ती हैं जिनमें से 140 को ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: अस्पतालों में सांसों के लिए तरसते मरीज! सरकार धीरे-धीरे चला रही है ऑक्सीजन की गाड़ी

आपूर्ति घटने के बाद उसे डेढ़ टन ऑक्सीजन मिली। अधिकारियों के मुताबिक अस्पताल में 200 घन मीटर ऑक्सीजन ही बची थी जब उसके भंडार को फिर से भरा गया। एक अधिकारी ने कहा, “लेकिन यह भी महज दो घंटे तक चलेगी।” गुप्ता ने ट्वीट किया, “सर गंगाराम अस्पताल के प्रमुख डॉ डी एस राणा से अभी-अभी बात की।

इसे भी पढ़ें: कोरोना संकट से जूझ रहे भारत की मदद के लिए पाकिस्तान आया आगे, ईधी फाउंडेशन ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

उन्होंने मुझे बताया कि ऑक्सीजन खत्म होने से स्थिति और खराब हो गई है। मैं उपराज्यपाल व अरविंद केजरीवाल से तत्काल आधार पर अस्पताल को ऑक्सीजन मुहैया करने का आग्रह करता हूं क्योंकि वहां मरीजों की हालत नाजुक है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।