मुख्यमंत्री ने दी मकर संक्रांति और लोहड़ी की शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री ने दी मकर संक्रांति और लोहड़ी की शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि नव वर्ष का आगमन जनवरी माह में आने वाले इन त्योहारों को देश के विभिन्न भागों में अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। उत्तर भारत के राज्यों में इसे लोहड़ी व मकर संक्राति के रूप में तो वहीं दक्षिण भारत में इसे पोंगल तथा उत्तरी पूर्वी राज्यों में इसे बिहू केे रूप तो कई अन्य राज्यों में इसे गढ़ी पड़वा व उत्तरायण के रूप में मनाया जाता है।

चंडीगढ़।   मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति और लोहड़ी के अवसर पर हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं देते हुए सबके सुख, शांति, समृद्धि व धन-धान्य से परिपूर्ण होने की कामना की है। 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि नव वर्ष का आगमन जनवरी माह में आने वाले इन त्योहारों को देश के विभिन्न भागों में अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। उत्तर भारत के राज्यों में इसे लोहड़ी व मकर संक्राति के रूप में तो वहीं दक्षिण भारत में इसे पोंगल तथा उत्तरी पूर्वी राज्यों में इसे बिहू केे रूप तो कई अन्य राज्यों में इसे गढ़ी पड़वा व उत्तरायण के रूप में मनाया जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंंतोत्गतवा नव वर्ष का स्वागत करना व देश में फसलों के अच्छी पैदावार होने की कामना करना ही मुख्य लक्ष्य होता है।  

इसे भी पढ़ें: स्वच्छता निरीक्षक को 'सेवा का अधिकार आयोग’ ने लगाया 20 हजार रुपये का जुर्माना

उन्होंने कहा कि ये त्योहार हमारी समग्र सांस्कृतिक धरोहर का अहम हिस्सा हैं और यह त्योहार देश के साम्प्रदायिक सौहार्द और सांस्कृतिक ताने-बाने को सुदृढ़ करते हैं। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना की लहर को ध्यान में रखते हुए नियमों का पालन करते हमें ऐसे त्योहारों को मनाना होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।