प्रदेश में शुरू हुई 5वीं तक की कक्षाएं, भोपाल में अधिकतर प्राइवेट स्कूलों में नहीं लगी क्लास

प्रदेश में शुरू हुई 5वीं तक की कक्षाएं, भोपाल में अधिकतर प्राइवेट स्कूलों में नहीं लगी क्लास

स्कूल के लिए बच्चों को अपने अभिभावकों का सहमति पत्र साथ लाना अनिवार्य किया गया है। बताया जा रहा है कि इसके बिना सहमति पत्र के स्कूल में छात्रों को एंट्री नहीं मिलेगी।

भोपाल। मध्य प्रदेश में आज यानी सोमवार से फिर स्कूलों में रौनक दिखने वाली है। तकरीबन डेढ़ साल बाद प्रदेश में पहली से पांचवीं तक के स्कूल सोमवार से 50% क्षमता के साथ खुल गए हैं। इसके साथ ही 8वीं, 10वीं और 12वीं की क्लास 100 फीसदी क्षमता के साथ शुरु हो गई है।

इसे भी पढ़ें:प्रदेश में शुरू हुई उज्जवला योजना 2.0 , शाह ने कहा - कांग्रेस ने बंद की 17 योजनाएं 

आपको बता दें कि स्कूल के लिए बच्चों को अपने अभिभावकों का सहमति पत्र साथ लाना अनिवार्य किया गया है। बताया जा रहा है कि इसके बिना सहमति पत्र के स्कूल में छात्रों को एंट्री नहीं मिलेगी। इसके साथ ही कोविड गाइडलाइन का भी पालन करना होगा। वहीं बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस भी चलती रहेगी।

इसे भी पढ़ें:प्रदेश में शराब के खिलाफ उमा भारती ने CM शिवराज और वीडी शर्मा को दिया अल्टीमेटम, कांग्रेस ने ली चुटकी 

वहीं छोटे बच्चों के क्लास खोलने को लेकर राज्य शिक्षा केंद्र ने दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। राज्य शिक्षा केंद्र के अपर मिशन संचालक लोकेश जांगिड़ ने कहा है कि दूसरी क्लास के बच्चों को अभी पहली क्लास का ही पुराना पाठ्यक्रम पढ़ाया जाएगा। एक शिक्षक ही दोनों कक्षाओं की एक साथ क्लास लेगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...