उत्तर प्रदेश की खबरें: सीएम योगी ने बाराबंकी को दिया 500 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का तोहफा

उत्तर प्रदेश की खबरें: सीएम योगी ने बाराबंकी को दिया 500 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का तोहफा

मुख्यमंत्री ने बाराबंकी की रामनगर, कुर्सी व नवाबगंज विधानसभा की 148.8 करोड़ रुपए की 186 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्‍यास करते हुए सीएम ने ब्रिटानिया कंपनी के 340 करोड़ रुपए के लागत के प्‍लांट का भी शिलान्‍यास किया।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को बाराबंकी को विकास की धुरी से जोड़ने के लिए 500 करोड़ की परियोजनाओं का तोहफा दिया। विभिन्न विधानसभाओं में संचालित होने वाली इन परियोजनाओं का उन्होंने शिलान्यास और लोकार्पण किया। इसमें ब्रिटानिया कंपनी की ओर से 340 करोड़ रुपए की लागत का बिस्‍कुट बेकरी प्‍लांट भी शामिल है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि ब्रिटानिया के प्‍लांट लगने से बाराबंकी के 01 हजार युवाओं को उनके शहर में ही नौकरी मिलेगी। किसानों को भी प्‍लांट लगने से काफी लाभ होगा। यहीं के किसानों से गेहूं व मैदा भी लिया जाएगा। नई परियोजनाओं के शुरु होने से दुनिया भर में बाराबंकी को नई पहचान भी मिलेगी। 

इसे भी पढ़ें: लता मंगेशकर के गानों को गाकर गोरखपुर की सुनीशा ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

मुख्यमंत्री ने बाराबंकी की रामनगर, कुर्सी व नवाबगंज विधानसभा की 148.8 करोड़ रुपए की 186 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्‍यास करते हुए सीएम ने ब्रिटानिया कंपनी के 340 करोड़ रुपए के लागत के प्‍लांट का भी शिलान्‍यास किया। जनसभा को सम्बोधित करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश में सुरक्षा का माहौल देने से निजी निवेशक यूपी की ओर आकर्षित हो रहे हैं। सरकारी निवेश के साथ प्रदेश में निजी कंपनियां भी निवेश कर रही हैं। ब्रिटानिया कंपनी का प्‍लांट लगने के बाद बाराबंकी विकास की नई ऊंचाईयों तक पहुंचेगा। यहां के युवाओं को नौकरी के लिए पलायन नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यूपी में अपराधियों पर लगाम कसी गई है। अपराधी कोई भी हो उसकी जाति, मजहब, क्षेत्र और भाषा नहीं पूछी जाएगी। अपराध किया है, तो कानून के दायरे में लाकर उसे सख्त सजा दी जाएगी।

सीएम योगी ने कहा कि पहले की सरकारें चेहरा देख कर विकास करती थीं लेकिन भाजपा सरकार में ऐसा नहीं है। जैसे देवा शरीफ का विकास होगा, वैसा ही महादेवा का विकास किया जाएगा। सीएम ने कहा कि विकास की योजनाओं से ही जीवन में परिवर्तन आता है। उन्‍होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों की बदौलत विकास का लाभ आम लोगों को मिल पाता है। सीएम ने कहा कि आज ग्रामीण विकास, शहरी विकास, कृषि, स्‍वास्‍थ्‍य, पर्यटन विकास, शिक्षा व रोजगार को आगे बढ़ाने वाली परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्‍यास किया गया है। इससे बाराबंकी का युवा व किसान आत्‍मनिर्भर हो सकेंगे।

रामराज का द्वार है बाराबंकी

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की वजह अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण का सपना पूरा हुआ। बाराबंकी हमारे लिए दो नजरिए से महत्वपूर्ण है। पहला, रामराज की धरती बाराबंकी से प्रारंभ हो जाती है, यह रामराज का द्वार है। सीएम ने कहा कि बाराबंकी के किसानों ने अपने परिश्रम से कृषि को नई उंचाईयों तक पहुंचाया है। अपनी मेहनत की बदौलत यहां के किसान राम शरण ने पद्मश्री सम्‍मान से नवाजे जा चुके हैं। 

इसे भी पढ़ें: गन्ने के मूल्य में सिर्फ 25 रुपये की हुई वृद्धि, बावजूद इसके पश्चिमी यूपी के किसान क्यों हैं योगी सरकार के साथ? 

यूपी में सुरक्षा के माहौल से बढ़ा निजी निवेश

सीएम योगी ने कहा कि विकास व निवेश को आगे बढ़ाने के लिए सुरक्षा का माहौल जरूरी है। यूपी में 2017 से पहले बिजली नहीं मिलती थी। गांव अंधेरे में डूबे रहते थे। आज प्रदेश में बिजली का वितरण सामान्‍य रूप से किया जा रहा है। युवाओं को उनकी पसंद की नौकरी व रोजगार उनके शहर में मिल सकें। इसके लिए कोशिश की गई। साढ़े 4 सालों में प्रदेश के 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरियों का तोहफा दिया गया।

तीज-त्‍योंहारों में अब कोई बाधा नहीं

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के मार्गदर्शन में यूपी में कोरोना पर काबू पाया गया है। डेढ़ साल तक प्रदेश की जनता कोरोना से त्रस्‍त थी लेकिन अब यूपी में कोरोना खत्‍म हो रहा है। सीएम ने कहा कि किसी महामारी में सबसे अधिक मौतें भुखमरी से होती हैं। संक्रमण काल के दौरान कोई भूखा न सोए इसलिए प्रदेश में फ्री राशन का वितरण किया गया। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में सभी तीज-त्‍योहार उत्‍साह व उमंग से मनाए जाते हैं। पिछली सरकारों में कांवड़ियों को बाराबंकी के महादेवा मंदिर आने में दिक्‍कत होती थी। डीजे व भजन करने वालों पर लाठी चलती थी। सपा सरकार में तो जन्‍माष्‍टमी पर ही रोक लगा दी गई थी। लेकिन आज प्रदेश में सभी त्‍योहार हर्ष व उल्‍लास से मनाए जा रहे हैं। कोई प्रतिबंध नहीं है, रामलीलाएं आराम से हो रही हैं।

पंचायत भवन बनेंगे विकास की धुरी

सीएम योगी ने कहा कि पिछली सरकारों को विकास की योजनाएं आमजन तक पहुंचाने की कोई फिक्र नहीं थी। सपा सिर्फ चार जिलों के विकास में लगी थी और बसपा को फुरसत नहीं थी। भाजपा सरकार में अकेले बाराबंकी में 26 पंचायतों को ग्राम सचिवालय के रूप में डेवलप किया गया। गांव में बन रहे पंचायत भवन विकास की धुरी बनेंगे। सीएम ने कहा कि सपा व बसपा सरकार में सौभाग्‍य योजना का लाभ एक भी व्‍यक्ति को नहीं मिला जबकि सौभाग्‍य योजना से बाराबंकी जिले में 8 हजार से अधिक लोगों को बिजली कनेक्‍शन दिए गए। 63 हजार परिवारों को आयुष्मान भारत का कार्ड दिया गया। उन्‍होंने कहा कि सपा व बसपा ने एक भी किसान का कर्ज माफ नहीं किया। वहीं, अकेले नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र में 20336 किसानों का 111 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया गया। 92666 किसानों को किसान सम्‍मान निधि योजना से जोड़ा गया। साढ़े चार सालों में 52 हजार व्‍यक्‍तिगत शौचालयों का निर्माण कराया गया। 

इसे भी पढ़ें: UP में ढाई महीने के बचे हुए कार्यकाल वाली सरकार के विस्तार की जरूरत क्यों पड़ गयी? 

सीतापुर हो या रामपुर, हम चेहरा देखकर नहीं करते विकास: योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आज उत्तर प्रदेश में बिना भेदभाव, बगैर जाति, मत, मजहब अथवा चेहरा देखे, समाज के सभी वर्गों का विकास जा रहा है। एक समय था कि जब गरीबों का राशन "सैफई" चला जाता था। "हाथी" का पेट इतना बड़ा था कि गरीबों के लिए रखा सारा अनाज उसमें समा जाता था। लेकिन आज तो हर "रामपुर" हो या "सीतापुर" हर जगह विकास का उजियारा है। हर गरीब का अपना घर है, हर घर शौचालय है। यही नहीं, आज तो "सीतापुर जेल" में भी बिजली आती है।

सीएम योगी बुधवार को सीतापुर में ₹484.41 करोड़ की लागत वालीं 167 परियोजनाओं लोकार्पण/शिलान्यास कर रहे थे। कार्यक्रम में उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को घर की प्रतीकात्मक चाभी सौंपी तो मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, कन्या सुमंगला योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना और आयुष्मान योजना के तहत पात्र लोगों को योजना का लाभ भी दिया। जनसमूह के सामने साढ़े चार साल का लेखा-जोखा पेश करते हुए उन्होंने लोगों से भाजपा पर विश्वास बनाने के लिए आभार जताया तो विश्वास दिलाया कि सरकार एक-एक नागरिक के सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन को सुनिश्चित करेगी। नैमिष धाम को प्रणाम अर्पित करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार की योजनाओं का सबसे ज्यादा लाभ पाने वाले जिलों में सीतापुर पहले नंबर पर है। साढ़े चार साल में यहां के सवा दो लाख परिवारों को "अपना घर" मिला तो उज्ज्वला योजना के माध्यम से 05 लाख परिवारों को रसोई गैस के मुफ्त कनेक्शन दिए गए हैं। पिछली सरकारों में सीतापुर की उपेक्षा पर दुःख जताते हुए सीएम ने कहा कि राजधानी लखनऊ के इतना निकट होने के बाद भी विकास की रोशनी यहां नहीं आई। जनपद की बाढ़ की समस्या का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले जब बाढ़ या बीमारी का प्रकोप आता था तो सरकारें कान में तेल डाल कर रजाई ओढ़ कर सो जाया करती थीं। हमने 2017 में यहां वादा किया था और आज बाढ़ की समस्या का निदान हो रहा है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: सूर्य प्रताप शाही ने राज्य स्तरीय रबी उत्पादकता गोष्ठी-2021 का शुभारम्भ किया 

"जय श्री राम-वंदेमातरम के बीच जनता से लिया फीडबैक

उत्साह से लबरेज जन समूह से आतीं 'जय श्री राम' और 'भारत माता की जय' के नारों के बीच योगी ने सपा, बसपा और कांग्रेस सरकारों की नीति और नीयत पर भी सवाल उठाए। उन्होंने जनता से पूछा कि क्या कांग्रेस कभी कश्मीर से अनुच्छेद 370 का कलंक मिटा सकती थी? लोगों ने कहा नहीं, योगी ने फिर पूछा, क्या सपा-बसपा कभी अयोध्या में 500 साल का इंतज़ार खत्म कर राम मंदिर बनवाती, लोगों ने कहा कभी नहीं। योगी ने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार है जो देश की आकांक्षाओं को पूरा कर रही हम वरना, सपा सरकार में तो आतंकवादियों पर दर्ज मुकदमे वापस लिए जाते थे। कावंड़ यात्रा पर रोक लगती थी। आज होली, दिवाली हो या कोई अन्य पर्व-त्योहार सब हर्ष उल्लास के साथ शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो रहे हैं। किसी की हिम्मत नहीं कि कोई आस्था में खलल डाल सके। क्योंकि अगर कोई खलल डालने की सोचेगा तो उसकी जगह सिर्फ जेल होगी और "सीतापुर की जेल" तो इसके लिए विख्यात है। सीएम ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस को समाज में भेदभाव, जातिवाद और पक्षपात को बढ़ावा देने वाली पार्टियां हैं। हमने 2017 में वादा किया किसानों की कर्ज माफ करने का। सरकार बनी और 86 लाख किसानों का कर्ज माफ हुआ। पहले की सरकारें तो गरीबों का खाता नहीं खोलती थीं, क्योंकि उन्हें डर था कि अगर गरीब आदमी का खाता खुल गया तो इनके अपने खाते बन्द हो जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनधन योजना शुरू कर लोगों के बैंक खाते खुलवाए। आज हर किसान, हर महिला हर गरीब को सीधा लाभ मिल रहा है। 35 मिनट से कुछ अधिक समय के अपने उद्बोधन में योगी ने सीतापुर के पौराणिक महत्व को भी नमन क़िया। उन्होंने कहा कि सीतापुर हम सभी के लिए बड़ा पवित्र तीर्थ है। जब पूरी दुनिया अंधकार में जी रही थी, तब 88,000 ऋषियों ने इसी धरती पर भागवत का वाचन किया था। यह ज्ञान की धरती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।