गोरखपुर में अपहरण के बाद 14 साल के बच्चे की हत्या, CM योगी ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   08:27
गोरखपुर में अपहरण के बाद 14 साल के बच्चे की हत्या, CM योगी ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में अपहृत बालक की मृत्यु की घटना में अपराधियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने अपराधियों के विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाए जाने पर विचार करने तथा प्रकरण में पुलिस की जवाबदेही निर्धारित करने के निर्देश भी दिए हैं।

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश स्थित गोरखुपर जिले के पिपराइच इलाके में कक्षा छह में पढ़ने वाले एक छात्र का रविवार को अपहरण हो गया, सोमवार शाम उसका शव पुलिस ने बरामद कर लिया। 14 साल के बच्चे बलराम गुप्ता के पिता की परचून (ग्रासरी)और पान की दुकान है। पिता महाजन गुप्ता का घर जंगल छत्रधारी इलाके में है। बच्चे का अपहरण रविवार दोपहर बाद हुआ था और उसके बाद परिवार को फिरौती के लिये फोन आया था। उधर लखनऊ में एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में अपहृत बालक की मृत्यु की घटना में अपराधियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने अपराधियों के विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाए जाने पर विचार करने तथा प्रकरण में पुलिस की जवाबदेही निर्धारित करने के निर्देश भी दिए हैं। महाजन गुप्ता ने बताया कि रविवार दोपहर बाद 14 साल के बच्चा बलराम गुप्ता खाना खाने के बाद घर के बाहर खेलने गया था। शाम को मेरे पास एक अनजान नंबर से फोन आया और मुझसे बच्चे के बदले एक करोड़ रूपये की फिरौती मांगी गयी। मैने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार गुप्ता ने सोमवार को बताया कि जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुये अपहरणकर्ताओं को रविवार रात गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान अपहरणकर्ताओं ने बताया कि उन्होंने बच्चे को रात को ही मार दिया था, उनसे मिली जानकारी के अनुसार बच्चे का शव बरामद कर लिया गया है। एसएसपी के मुताबिक बच्चा दोपहर बाद से गायब था और उसके पिता ने पुलिस को इस बारे में शाम को जानकारी दी थी। उधर लखनऊ में अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि इस मामले में कई संदिग्ध व्यक्तियों को लेकर पूछताछ की गयी थी। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से 30 और लोगों की मौत, 3578 नये मामले

दयानंद राजभर नामक व्यक्ति से पूछताछ करने पर उसने बताया कि बच्चे को मार दिया गया है उसकी निशानदेही पर केवटिया टोला नाले से एक बोरे में शव बरामद किया गया। दयानंद से पूछताछ जारी है इस घटना में तीन-चार अन्य लोग भी शामिल है जिनकी तलाश जारी है। गोरखपुर के पुलिस अधीक्षक (उत्तरी) अरविंद कुमार पांडेय ने बताया कि बच्चे का शव सोमवार शाम बरामद हुआ है। रविवार रात एक अभियुक्त और कई संदिग्धों को पुलिस ने हिरासत में लिया था और पूछताछ में उन्होंने बताया कि बच्चे को रात में ही मार दिया था। उन्होंने बताया कि बच्चा रविवार को दोपहर करीब 12 बजे से गायब था और उसके पिता को फिरौती के लिये फोन दोपहर तीन बजे आया और उन्होंने पुलिस को शाम पांच बजे जानकारी दी। अभी यह बताना जल्दबाजी होगी कि अपहरण क्यों किया गया लेकिन जांच के बाद जल्द ही सच्चाई सामने आ जायेगी। ऐसा लगता है कि अपहरणकर्ता स्थानीय थे। लखनऊ में एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में अपहृत बालक की मृत्यु की घटना में अपराधियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने अपराधियों के विरुद्ध रासुका लगाए जाने पर विचार करने तथा प्रकरण में पुलिस की जवाबदेही निर्धारित करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार प्रकरण की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवायी कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाएगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।