कांग्रेस ने सरकार से पूछा, सवाल पूछने पर विपक्ष राष्ट्र विरोधी हो जाता है तो 2004-14 में बीजेपी भी यही थी?

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2020   11:46
कांग्रेस ने सरकार से पूछा, सवाल पूछने पर विपक्ष राष्ट्र विरोधी हो जाता है तो 2004-14 में बीजेपी भी यही थी?

मनीष तिवारी ने सवाल किया, ‘‘ अगर नड्डा जी का ये कहना है कि विपक्ष सवाल पूछता है तो वह राष्ट्रविरोधी है तो मैं उनसे विनम्रता से पूछना चाहता हूं कि क्या इसका ये मतलब है कि 2004 से 2014 तक वो भी राष्ट्र विरोधी थे।’’

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने राहुल गांधी पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के हमले को लेकर पलटवार करते हुए बुधवार को सवाल किया कि अगर अब सवाल पूछने पर विपक्ष राष्ट्र विरोधी है तो क्या 2004 से 2014 के दौरान भाजपा राष्ट्र विरोधी थी। पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि अगर भाजपा चाहती है कि विपक्ष सरकार से सवाल नहीं करे तो प्रधानमंत्री नरेंद मोदी को संप्रग सरकार के कार्यकाल के दौरान भाजपा के व्यवहार के लिए माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से संवाददाताओं से कहा, ‘‘ ये वही भारतीय जनता पार्टी है, जिसने भारत की विदेश नीति और सामरिक नीति पर सवाल पूछे थे। ये वही भाजपा है जो भारत-अमेरिका परमाणु करार के समय लोकसभा में 2008 में अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई थी। ये वही भाजपा है जो चीन की तथाकथित घुसपैठ को देखने के लिए इन्होंने भारत की सरहद के ऊपर एक प्रतिनिधिमंडल भेजा था।’’

इसे भी पढ़ें: नड्डा ने आपातकाल को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, सत्याग्रहियों को किया नमन

तिवारी ने सवाल किया, ‘‘ अगर नड्डा जी का ये कहना है कि विपक्ष सवाल पूछता है तो वह राष्ट्रविरोधी है तो मैं उनसे विनम्रता से पूछना चाहता हूं कि क्या इसका ये मतलब है कि 2004 से 2014 तक वो भी राष्ट्र विरोधी थे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ अगर भाजपा चाहती है कि विपक्ष उनसे सवाल ना पूछे तो प्रधानमंत्री जी को 2004 से लेकर 2014 के बीच भारतीय जनता पार्टी का जो चाल, चलन और चरित्र रहा है, उस पर सार्वजनिक तौर से माफी मांगनी चाहिए।’’ गौरतलब है कि कांग्रेस और गांधी परिवार पर तीखा हमला बोलते हुए भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने बुधवार को कहा कि एक ‘शाही परिवार और उसके दरबारियों’ को यह बड़ा भ्रम है कि वे ही पूरा विपक्ष हैं। उन्होंने कहा कि एक खारिज और अस्वीकृत परिवार पूरे विपक्ष के बराबर नहीं हो सकता। नड्डा ने ट्वीट कर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि यह एकता और एकजुटता का समय है और ‘शाही परिवार के उत्तराधिकारी को एक बार फिर स्थापित करने के लिए इंतजार किया जा सकता है’। राहुल गांधी ने हाल ही में चीन के साथ सीमा विवाद से निपटने के तरीके को लेकर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर आलोचना की थी जिसे लेकर नड्डा ने पटलवार किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।