सोनिया गांधी के खिलाफ भाजपा प्रवक्ता की टिप्पणी पर आक्रामक हुई कांग्रेस, जेपी नड्डा से की यह मांग

jairam ramesh
ANI
रमेश ने कहा कि संस्कृति के बारे में बात करने वाले भाजपा के शीर्ष नेताओं और प्रवक्ताओं ने देश की महिलाओं खासतौर से एक राष्ट्रीय पार्टी की 75 वर्षीय अध्यक्ष के खिलाफ बार-बार आपत्तिजनक का इस्तेमाल किया है।
नयी दिल्ली। कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रवक्ता प्रेम शुक्ला द्वारा सोनिया गांधी के लिए ‘‘आपत्तिजनक भाषा’’ का इस्तेमाल करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से रविवार को माफी मांगने के लिए कहा। कांग्रेस ने ऐसा दोबारा होने पर मानहानि का मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी। भाजपा प्रमुख नड्डा को लिखे पत्र में कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि कांग्रेस 23 जुलाई को एक राष्ट्रीय समाचार चैनल पर चर्चा के दौरान शुक्ला द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के लिए ‘‘अभद्र और अपमानजनक’’ का इस्तेमाल किए जाने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराती है। रमेश ने कहा कि संस्कृति के बारे में बात करने वाले भाजपा के शीर्ष नेताओं और प्रवक्ताओं ने देश की महिलाओं खासतौर से एक राष्ट्रीय पार्टी की 75 वर्षीय अध्यक्ष के खिलाफ बार-बार आपत्तिजनक का इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा, ‘‘विपक्ष के नेताओं के लिए आपत्तिजनक का इस्तेमाल करना भाजपा की महिला विरोधी सोच को दिखाता है। ऐसी आपत्तिजनक टिप्पणियों के कारण देश की राजनीति का स्तर नीचे गिर रहा है।’’

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने अग्निपथ पर कहा, इस ‘नए प्रयोग’ के कारण देश की सुरक्षा और युवाओं का भविष्य दोनों खतरे में हैं

रमेश ने नड्डा को लिखे अपने पत्र में कहा कि महिलाओं का सम्मान करना वैदिक काल से ही भारत की महान परंपरा रही है और इसलिए सत्तारूढ़ भाजपा से राजनीति में शालीनता और महिलाओं के प्रति सम्मानजनक व्यवहार की उम्मीद की जाती है लेकिन पार्टी ने अपनी और व्यवहार से बार-बार निराश किया है। उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी जी और आपसे (नड्डा) हमारी अपील है कि आप अपनी पार्टी नेताओं की शर्मनाक और अभद्र टिप्पणियों के लिए देश की महिलाओं से माफी मांगें और साथ ही अपने प्रवक्ताओं तथा नेताओं को राजनीति की प्रतिष्ठा को नुकसान न पहुंचाने और आपत्तिजनक के इस्तेमाल से दूर रहने के लिए भी कहें।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘हमारी अध्यक्ष या किसी अन्य नेता के लिए अनुचित का बार-बार इस्तेमाल करने से हम मानहानि का मुकदमा जैसे कानूनी कदम उठाने के लिए विवश हो जाएंगे।’’ इससे पहले एक बयान में रमेश ने कहा कि शुक्ला की टिप्पणियों से भाजपा का ‘महिला विरोधी’ चेहरा दिखाई दिया है। 

इसे भी पढ़ें: गोवा बार विवाद पर स्मृति ईरानी का पलटवार, कांग्रेस के खिलाफ बोलती हूं इस लिए बनाया गया मेरी बेटी को निशाना

रमेश ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता की आपत्तिजनक दिखाती है कि भाजपा न तो महिलाओं का सम्मान करती है और न ही वह राजनीति में शालीनता में यकीन रखती है। उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब भाजपा के किसी नेता ने महिलाओं के खिलाफ अभद्र का इस्तेमाल किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि देश जानता है कि प्रधानमंत्री मोदी समेतभाजपा के कई नेताओं ने देश की सम्मानित महिलाओं और खासतौर से विपक्षी नेताओं के खिलाफ ‘‘आपत्तिजनक’’ टिप्पणियां की हैं। रमेश ने कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री जैसे उच्च पद पर आसीन व्यक्ति पद की गरिमा कम करता है तो उनकी पार्टी के प्रवक्ता स्वाभाविक तौर पर विपक्षी नेताओं के खिलाफ अभद्र शब्दों का इस्तेमाल करेंगे।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी ने अभी तक अपने अनुचित शब्दों के लिए माफी नहीं मांगी है। इस तरह की अपमानजनक और शर्मनाक टिप्पणियों के कारण देश की राजनीति का स्तर लगातार गिर रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़