कांग्रेस की मांग, सीमा पर चीन की गतिविधियों पर संसद में हो चर्चा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2020   10:27
कांग्रेस की मांग, सीमा पर चीन की गतिविधियों पर संसद में हो चर्चा

कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला और गौरव गोगोई ने संयुक्त डिजिटल प्रेस सम्मेलन में कहा कि सरकार को संसद के मानसून सत्र के दौरान मुद्दे पर चर्चा करनी चाहिए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सभी की चिंताओं पर जवाब देना चाहिए।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने रविवार को दावा किया कि उपग्रह द्वारा ली गई तस्वीरों से पता चला है कि चीन ने नाकू ला और डोका ला में पूर्वी सीमाओं पर मिसाइल तैनात कर दी हैं जिससे भारत की सुरक्षा को खतरा है। पार्टी ने मांग की कि सरकार को इस मुद्दे पर राष्ट्र को विश्वास में लेना चाहिए। कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला और गौरव गोगोई ने संयुक्त डिजिटल प्रेस सम्मेलन में कहा कि सरकार को संसद के मानसून सत्र के दौरान मुद्दे पर चर्चा करनी चाहिए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सभी की चिंताओं पर जवाब देना चाहिए।

सरकारी सूत्रों ने रेखांकित किया कि सशस्त्र बल सीमा पर गतिविधियों पर कड़ी निगाह रख रहे हैं। कांग्रेस के दोनों नेताओं ने पूछा कि मुद्दे पर सरकार चुप क्यों है। शुक्ला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम भारत सरकार से राष्ट्र को विश्वास में लेने का आग्रह करते हैं। सरकार को कोरोना वायरस के साथ इस मुद्दे पर भी संसद में चर्चा करनी चाहिए, और स्पष्ट करना चाहिए कि देश की सुरक्षा को क्या खतरा है।’’ 

इसे भी पढ़ें: पार्टी प्रमुख के कहने के बावजूद, नेताओं को सार्वजनिक टिप्पणी करना उचित नहीं है: कांग्रेस

लोकसभा में कांग्रेस के उप नेता गोगोई ने कहा कि यह गंभीर चिंता का विषय है जो राष्ट्रीय सुरक्षा को प्रभावित करता है और जिसके भयंकर परिणाम हो सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत ही गंभीर मुद्दा है और हम मोदी सरकार को विस्तारवादी चीन के सैन्य ताकत बढ़ाने के बारे में लगातार याद दिलाते रहे हैं, लेकिन भारत सरकार और प्रधानमंत्री चुप हैं।’’ दोनों नेताओं ने कहा कि स्थिति से निपटने के लिए सरकार को अपनी कार्ययोजना के बारे में बताना चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...